सासनी 21 मई । किसान को अन्नदाता कहते हैं, लेकिन यह क्या ? मंडी का सहायक तो अन्नदाता को भी लूट ने से नहीं चूक रहा है। सरकार द्वारा तुलाई, सफाई व उतराई का केवल 20 रुपये कुंतल निर्धारित है, लेकिन किसानों से पांच सौ रूपये इस बार के अधिक वसूल रहा है कि उनका नंबर आ जाएगा। मजे की बात हो यह है कि केंद्र सहायक सत्ता रूढ़ पार्टी के पदाधिकारी से भी नहीं धौंसा और अवैध रकम वसूले वगैर उसने गेंहू की तौलाई नहीं कराई।
जी हां! हम बात कर रहे हैं मंडी सासनी की। सूत्रों के मुताबिक सासनी मंडी में 19 मई, 2020 दिन मंगलवार को कुल छह किसानों का माल तौला गया। सरकार द्वारा किसान के गेंहू का जो मूल्य आंका गया है वह है 1925 रुपये कुंतल। इसके अलावा उतराई, तौलाई और सफाई के लिए किसानों से 20 रुपये कुंतल अधिक से और लिया जा रहा है। हालांकि इस पैसे की तो केंद्र प्रभारी व मंडी सचिव ने भी पुष्टि की है कि 20 रुपये कुंतल अधिक से लिया जा रहा है। जो सरकार की तरफ से व्यवस्था है। जो किसान को चेक में मिलेगी।
बता दें कि मामला सासनी से जुड़ा है। सासनी के ही गांव अजरोई निवासी धर्मेन्द्र का गेंहू तौलना था। वह अपने भाई धर्मेंद्र के साथ गेंहूं तुलवाने सासनी नवीन मंडी गए थे। उनका आरोप है कि जब वह पहुंचे तो उनसे गेंहू तौलने के ऐवज में पांच सौ रुपये की मांग की गई। उन्होंने इसका विरोध किया, लेकिन केंद्र सहायक नहीं माना बहरहाल उन्होंने पांच सौ रुपये अधिक दिए और जब उनके गेंहू की तौलाई की गई। इस संबंध में हपेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी शिकायत दर्ज कराते हुए केंद्र सहायक के खिलाफ अवैध वसूली की शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

क्या कहता है पानी पिलाने के लड़का रखा हुआ तो कि किसान गर्मी में चलकर आता हैं. नरेश कुमार पर किसान द्वारा लगाए गए आरोपों को निराधार बताया है। उसका कहना था कि केवल 20 रुपेय प्रति कुंतल उतराई, तुलाई व सफाई का लेबर चार्ज नगद देना होता है।जिसका गेंहू 44 कुन्तल था. पैसे 880रुपए बनते हैं पांच सौ नगद देकर . बाकी के पैसे कल की कहकर गया था. मेरे ऊपर कोई अगर आरोप लगा रहा है तो गलत है। मेरे यहां पर आज पांच किसानों का गेंहू तुला है। कुल 163 कुंतल गेंहू की आज तौलाई हुई है। वहीँ समाचार लिखें जाने तक विपणन अधिकारी जॉली कौशिक द्वारा आरोपी नरेश पुत्र रामजीलाल निवासी सुसायत कलां के खिलाफ तहरीर थाने में दें दी हैं मुकदमा दर्ज किया जा रहा हैं |

क्या कहना है केंद्र प्रभारी का
सासनी मंडी में बतौर केंद्र प्रभारी के पद पर तैनात जौली कौशिक ने बताया कि सरकार की तरफ से किसान के गेंहू का मूल्य 1925 रुपये कुंतल रखा है। इसके अलावा किसान से 20 कुंतल उतराई, तौलाई व छनाई-सफाई के लिए लिया जाता है। जहां तक मेरी जानकारी में है तो आज 105 कुंतल गेंहू की तौलाई हुई है। शासन द्वारा आदेश के अलावा कोई भी पैसा किसान से नहीं लिया जा रहा है। अगर ऐसा है तो मेरे संज्ञान में नहीं है और ना हीं मेरे सामने ऐसा कुछ हुआ है। अगर है भी तो गलत है।

क्या कहते हैं मंडी सचिव
मंडी सचिव से जब पूछा गया तो उन्होंने भी उतराई, तौलाई और सफाई के 20 रुपये कुंतल के हिसाब से किसान से लिए जाना उचित बताया। जबकि किसान से पांच सौ रुपये अकिध लेना गलत बताया। उन्होंने कहा है कि अभी तक ऐसी कोई शिकायत नहीं है। अगर शिकायत आती है तो संबंधित के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।