Hamara Hathras

17/05/2024 9:03 am

Latest News

हाथरस 10 मई। जिला अस्पताल परिसर में नर्स डे मनाते हुए गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें डॉ गोपाल वर्मा ने बताया कि नर्स दिवस आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल को समर्पित है। इसलिए इस दिन को 12 मई को मनाते हैं। फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म 12 मई को ही हुआ था। उन्होंने ही नोबेल नर्सिंग सेवा की शुरुआत की थी। डॉ गोपाल वर्मा ने बताया कि इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स ने 1974 को अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाने की घोषणा की थी। उस दौरान नर्सों को किट वितरण कराने का काम इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स का होता था। वहीं नर्सों के काम से संबंधित चीजों की देखरेख करता था। कार्यक्रम की शुरुआत फ्लोरेंस नाइटिंगेल के छविचित्र पर माल्यर्पण करके की गई। फार्मासिस्ट गोविंद कुमार व विक्रम सिंह ने बताया कि कोरोना काल में जब वायरस के कारण पूरी दुनिया में लोग पीड़ित थे, तब डॉक्टरों के साथ ही नर्सों की भूमिका बहुत अहम हो गई थी। कोविड संकट के दौरान हेल्थ वर्कर कोरोना वॉरियर्स बनकर इस वायरस से हमारी सुरक्षा करते रहे। दिन रात डॉक्टरों के साथ नर्सों ने लोगों की सेवी की। किसी भी रोगी के स्वास्थ्य के लिए एक डॉक्टर जितना अहम भूमिका में होता है, उतना ही महत्वपूर्ण रोल नर्स का भी होता है। नर्स ही बीमार की देखभाल करती हैं। पूरा दिन एक डॉक्टर एक मरीज के पास नहीं रह सकते हैं। नर्स मरीज की हालत की निगरानी करती है। नर्स के इसी सेवा भाव को सम्मानित करने और उनके योगदान की सराहना करने के लिए हर साल दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाता है। यहां पर मौजूद रहीं स्टाफ नर्स नसीब बानो, सुमन सिंह, सुनीता प्रसाद, प्रियंका पचौरी आदि ने भी फ्लोरेंस नाइटिंगेल के छविचित्र पर पुष्प अर्पित किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts