सादाबाद 14 जनवरी । क्षेत्र के गांव अरौठा में चल रही श्रीमद्भागवत के कथा तीसरे दिन विधायक गुड्डू चौधरी ने गांव पहुंच कर कथा रसपान किया।कथावाचक पंडित राज राजेश्वर शास्त्री महाराज व उनके सहयोगी ने श्रीमद्भागवत महिमा के बारे में वर्णन किया।

कथाचार्य ने बताया कि श्रीमद्भागवत कथा का श्रवण करना संसार का सर्वश्रेष्ठ सत्कर्म है। यह भगवान का वांग्मय स्वरूप है, जो जन्म जन्मांतर के पुण्य उदय होने पर प्राप्त होता है। यह देव दुर्लभ है, किंतु मनुष्यों को सुलभ होकर ज्ञान गंगा के रूप में प्रवाहित हो रही है। हर मनुष्य को समाज में अच्छा काम करना चाहिए। भगवान श्रीकृष्ण ने कहा कि कर्म ही प्रधान है, बिना कर्म कुछ संभव नहीं होता है। जो मनुष्य अच्छा कर्म करता है, उसे अच्छा फल मिलता है। बुरे कर्म करने वाले को बुरा फल मिलता है। भागवत को सुनने से पाप नष्ट होता है। विधायक गुड्डू चौधरी ने कहा कि भागवत कथा एक ऐसा अमृत है, जिसका जितना भी रसपान किया जाए तब भी तृप्ति नहीं होती। हमारे भाग्य लिखने वाला परमपिता उसी को देता है, जो उसके बताए मार्ग पर चलता है।