सादाबाद 11 जून । कस्बे की पहचान रही करवन नदी के कायाकल्प की मांग सालों से उठती चली आ रही है। शुक्रवार को उपजिलाधिकारी ने करवन नदी का निरीक्षण किया। इस दौरान नदी की हालत कायाकल्प और सफाई पर जोर दिया गया है।

करीब एक दशक बीत गया जब से नदी में पानी नहीं छोड़ा गया है। इसके चलते करवन नदी लगातार गंदगी का शिकार होती जा रही है। फिलवक्त कस्बे का तमाम कचरा नदी में डाला जा रहा है। इससे नदी डलाबघर बन चुकी है। निरीक्षण के लिए पहुंचे एसडीएम विपिन कुमार शिवहरे ने नदी के सौंदर्यकरण पर जोर दिया। इसके अलावा नपं को निर्देशित किया गया है कि कस्बे का कूड़ा नदी में ना डाला जाए। नगर पंचायत की इसकी विशेष निगरानी करे। नगर पंचायत को नदी के दोनों ओर पौध रोपण के लिए भी निर्देशित किया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here