सिकंदराराऊ (हसायन) 13 जनवरी । हिन्दुस्तान मिशन शक्ति अभियान के तहत विकासखंड क्षेत्र के गांव उल्दापुर में रहने वाली शिक्षिका मधुबाला ने ग्रामीण परिवेश में रहते हुए आज भी वैश्विक महामारी के दौरान शिक्षण संस्थान बंद होने के कारण घर पर गरीब व असहाय परिवार के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा प्रदान कर रही। बच्चों के पढाने के बाद वह युवतियों व किशोरियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सिलाई कढाई सिखाकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। मधुबाला ने बीए करने के दौरान विपिन शर्मा से शादी होने के बाद अपने पति व ससुरालीजनों के साथ कृषि कार्य में भी सहयोग किया। मधुबाला के पति विपिन शर्मा श्री हनुमान इंटर कॉलेज में बतौर शिक्षक थे। तो उन्होंने भी श्री हनुमान बाल विद्यालय में शिक्षिका बनकर बच्चों को शिक्षा देने का फैसला किया। वर्तमान में मधुबाला वैश्विक महामारी के दौरान शासन के आदेश पर स्कूलों के बंद होने के बाद भी घर पर कस्बा व देहात क्षेत्र के ग्रामीण अंचल के गरीब तबके के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा दिए जाने का कार्य कर रही है। मधुबाला को धार्मिक आयोजन के साथ बेटी बचाओ बेटी पढाओ के लिए समाज के लोगों को हमेशा जागृत करने के लिए भरकश प्रयास करती रहती है।