सिकंदराराऊ 06 अगस्त | राष्ट्रीय विप्र एकता मंच ने राष्ट्रीय अध्यक्ष मित्रेश चतुर्वेदी संयोजक चेतन शर्मा एवं महासचिव राजीव चतुर्वेदी के नेतृत्व में उप जिलाधिकारी कार्यालय पर उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ समय से निरंतर बढ़ रहे ब्राह्मण समाज के उत्पीड़न एवं ब्राह्मणों की हत्याओं के सिलसिले के विरोध में प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा गया |
ज्ञापन में कहा गया कि जिस ब्राह्मण समाज ने आदिकाल से समस्त मानव जाति के कल्याण की भावना के साथ कार्य किया है और मार्गदर्शक की भूमिका निभाई है। आज उसी ब्राह्मण समाज के अस्तित्व पर सवाल खड़ा हो गया है। पिछले कुछ महीनों से लगातार उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समाज के लोगों की हत्याएं हो रही हैं । चिंता की बात यह है कि इन हत्याओं के मामले में पुलिस द्वारा प्रभावी कार्यवाही अपराधियों के खिलाफ नहीं की गई। बल्कि अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने वाले ब्राहमणों के प्रति दमनकारी रवैया अपनाया गया है। शासन लगातार इस ओर से अनदेखी कर रहा है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि शासन के संरक्षण में ही पुलिस एवं अपराधियों की सांठगांठ से ब्राह्मण समाज का उत्पीड़न हो रहा है। इस हालात को देखते हुए ब्राह्मण समाज में तीव्र आक्रोश व्याप्त है।

राष्ट्रीय विप्र एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष मित्रेश चतुर्वेदी ने कहा कि देवरिया जिला में हत्यारे एक अधिवक्ता के पुत्र का सिर काट कर ले गए, जिसे पुलिस आज तक बरामद नहीं कर सकी है और न ही कोई गिरफ्तारी हुई है। प्रयागराज में एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या कर दी गई। इनके अलावा भी पिछले 1 वर्ष में कई जिलों में वीभत्स रूप से ब्राह्मण समाज के लोगों की हत्या की गई हैं। हत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं शासन द्वारा हर बार हर एक घटना के बाद कड़ी कार्रवाई करने की बात कही जाती है लेकिन कार्रवाई न होने के कारण अपराधियों के हौसले बुलंद हैं।
उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों की हत्याओं के सिलसिले को रोकने हेतु अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। ब्राह्मण हत्याओं के मामले में इस प्रकार कार्रवाई हो कि कोई भी अपराधी ब्राह्मण समाज के लोगों को कमजोर समझ कर उनका उत्पीड़न करने का साहस न जुटा सके। यदि शासन प्रशासन द्वारा कार्यवाही नहीं की गई तो ब्राह्मण समाज आंदोलनात्मक कदम उठाने को बाध्य होगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।
इस मौके पर उप जिलाधिकारी कार्यालय पर जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया गया तथा राष्ट्रपति के नाम संबोधित एक ज्ञापन भी सौंपा गया। इस अवसर पर मनोज पंडित, सजल पंडित, मयंक उपाध्याय माही, राजू शर्मा , अवनीश भारद्वाज, निखिलवर्ती पाठक, पंकज पचौरी, देवदत्त उपाध्याय , ऋषभ शर्मा, अशोक शर्मा एड ,ओम शिव उपाध्याय एड, अजय शर्मा, पारस शर्मा, अंकुश उपाध्याय, उत्कर्षवर्ती पाठक, यश उपाध्याय, देव शर्मा आदि मौजूद थे ।