अयोध्या 05 अगस्त | अयोध्या में भव्य राम मंदिर के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूमि पूजन के बाद शिलान्यास किया। अब मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस चीफ मोहन भागवत समेत करीब 175 लोग इस ऐतिहासिक लम्हे का गवाह बने। पीएम मोदी ने अभिजीत मुहूर्त में मंदिर का शिलान्यास किया।

500 साल का लंबा संघर्ष संपन्न हुआ- सीएम योगी
भूमि पूजन के बाद पीएम मोदी, सीएम योगी, आरएसएस चीफ भागवत स्टेज पर पहुंचे। अपने संबोधन के दौरान सीएम योगी भावुक हो गए। सीएम योगी ने कहा, ‘500 वर्षों का लंबा और कड़ा संघर्ष अब लोकतांत्रिक और संविधान सम्मत तरीके से संपन्न हुआ। इस घड़ी की प्रतीक्षा में हमारी कई पीढ़ियां चली गईं। राम मंदिर के निर्माण का सपना लिए अनेक लोगों ने बलिदान दिया। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आज गौरवान्वित होने का अवसर मिला। राम मंदिर का सपना सच हो रहा है। अवधपुरी की धरती समृद्धशाली बनेगी। हम सबके लिए उमंग, उत्साह और भावनात्मक दिन। मैं सभी लोगों का उत्तर प्रदेश की भूमि पर अभिनंदन करता हूं। जय-जय श्रीराम।’

भूमि पूजन के बाद पीएम मोदी ने रखी नींव
अयोध्या में PM नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी। इसके साथ ही भूमि पूजन संपन्न। 9 शिलाओं का पूजन हुआ। बीच में जो शिला है, वह कूर्म शिला है। इस शिला के ठीक ऊपर रामलला विराजमान होंगे। जय श्रीराम और हर-हर महादेव की गूंज के बीच पीएम मोदी ने रखी राम मंदिर की शिला। 12 बजकर 44 मिनट के मुहूर्त पर रखी ईंट।

भूमि पूजन में 9 शिलाएं रखी गईं
भूमि पूजन करा रहे पुजारी ने बताया, ‘1989 में दुनियाभर से श्रद्धालुओं ने ईंटें भेजी थीं। ऐसी 2 लाख 75 हजार ईंटें हैं, जिनमें से ‘जय श्रीराम’ लिखी हुईं 100 ईंटें ली गई हैं। उनमें से 9 ईंटें यहां रखी हुई हैं।’ भूमि पूजन में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और गवर्नर आनंदीबेन पटेल भी शामिल रहीं।