नई दिल्ली 04 अगस्त | चीनी मोबाइल कंपनी वीवो इंडियन प्रीमियर लीग आईपीएल के अगले एडिशन में लीग स्पॉन्सर नहीं होगी। देश में भारी विरोध के बाद वीवो कंपनी की तरफ से यह फैसला आज लिया गया। जून में पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई भिड़ंत के बाद से ही कई लोगों ने चीनी सामानों का बहिष्कार करने की बात कही थी।
इसके अलावा आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने जब स्पॉन्सर रिटेन करने की बात कही थी, तो भी सोशल मीडिया पर लोगों ने इस पर विरोध जताया था। सूत्रों के मुताबिक, कंपनी अगले साल यानी 2021 में स्पॉन्सर रहेगी जो डील 2023 तक चलेगी। इस साल के लिए नए स्पॉन्सर का ऐलान जल्द किया जाएगा ।