आगरा 09 अप्रैल | ताजनगरी आगरा में कोरोना का संकट गहरा रहा है। कोरोना हॉटस्पॉट वाले यूपी के 15 जिलों में शामिल आगरा में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक यहां 19 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना के अब तक 84 मामले पता चल चुके हैं। यूपी में कोरोना केस के मामलों में आगरा पहले नंबर पर है। आगरा के जिलाधिकारी (DM) प्रभु नारायण सिंह ने आगरा में नए कोरोना मरीजों की जानकारी देते हुए बताया, ‘आगरा में 19 नए कोरोना पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 84 पहुंच गई है।’

इससे पहले बुधवार को आगरा में कोरोना से मौत का पहला मामला सामने आया था। एएसएन मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के दौरान कोविड-19 की शिकार 76 वर्षीय मरीज की मौत हो गई थी। यूपी में कोरोना संक्रमण से मौत का यह चौथा मामला था। जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने बताया, ‘महिला का नाती 15 मार्च को नीदरलैंड्स से लौटा था। वह 14 दिन के अनिवार्य क्वारंटीन में भी रहा था। उस दौरान उसमें संक्रमण के कोई लक्षण सामने नहीं आए और उसे घर जाने दिया गया। लेकिन उसके संपर्क में आने के कारण बुजुर्ग महिला संक्रमण का शिकार हो गई थी।’

ट्रेन के डिब्बों में आईसीयू बेड
आगरा डीसीएम के जनसंपर्क अधिकारी (PRO) एसके श्रीवास्तव ने बताया, ‘आगरा में ट्रेन के डिब्बों में 30 आईसीयू बेड बनाये जा रहे हैं। वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त के निर्देशन में रेलवे सुरक्षा बल (RPF) आगरा में ट्रेन के डिब्बों को आइसोलेशन वॉर्ड में तब्दील किया जा रहा है।’

23 इलाके रेड जोन घोषित
कोराना का संक्रमण जिस तेजी से आगरा में पैर पसार रहा है उसे देखते जिला प्रशासन ने आगरा के मंटोला, आजमपाड़ा, सांई की तकिया, वॉटर वर्क्स, जीवनी मंडी सहित 23 इलाकों को रेड जोन घोषित कर इन्हें पूरी तरह सील कर दिया है। डीएम प्रभु नारायण सिंह ने कहा है कि इन इलाकों में जाना खतरनाक है। यहां जरूरी सामान प्रशासन मुहैया करा रहा है।

आगरा के ये इलाके 14 अप्रैल तक सील रहेंगे और यहां सिर्फ डॉक्टरों और पुलिसकर्मियों को ही जाने की अनुमति होगी । आदेश के अनाुसार इन क्षेत्रों में एटीएम, बैंक, दूध की दुकान, दवा की दुकान अब बंद रहेंगी। साथ ही मीडिया का प्रवेश भी प्रतिबंधित रहेगा।