नई दिल्ली 05 अप्रैल | देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी का सिलसिला जारी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक शनिवार से अब तक देश में कोविड-19 के 472 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 11 लोगों की मौत भी हुई है। अब तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 3,374 मामलों की पुष्टि की जा चुकी है। इनमें से 267 लोग ठीक भी हो चुके हैं जबकि 79 लोगों की जान जा चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय में जॉइंट सेक्रटरी ने डेली ब्रीफिंग में बताया कि अब तक देश के 274 जिले कोरोना वायरस से प्रभावित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि तबलीगी जमात का मामला नहीं होता तो भारत में संक्रमण की दर काफी धीमी होती | उन्होंने कहा कि ‘कोविड-19 के मामले वर्तमान में औसतन 4.1 दिन में दोगुने हो गए हैं, अगर तबलीगी जमात का मामला नहीं होता तो दोगुने होने में औसतन 7.4 दिन का समय लगता।’

75 लाख लोगों को दिया जा रहा खाना
गृह मंत्रालय में जॉइंट सेक्रटरी पुण्य सलीला श्रीवास्तव ने बताया कि 75 लाख लोगों को खाना पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि देशभर में सभी राज्यों में कुल 27,661 रिलीफ कैंप और शेल्टर बनाए गए हैं। इनमें से 23,924 को सरकार चला रही है, जबकि 3,737 का इंतजाम गैरसरकारी संगठनों ने किया है। श्रीवास्तव ने बताया कि इन कैम्पों में 12.5 लाख लोगों को रखा गया है।

सरकारों, NGO की तरफ से लगाए गए हैं 19000 फूड से ज्यादा कैंप
इसके अलावा 19,460 फूड कैंप भी लगाए गए हैं। इनमें से 9.951 का संचालन सरकार कर रही है जबकि 9509 का संचालन एनजीओ कर रहे हैं। 13.6 लाख मजदूरों को उनके इम्पलॉयर या इंडस्ट्री की तरफ से शेल्टर और भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

जरूरी सामानों और सेवाओं की पर्याप्त आपूर्ति
श्रीवास्तव ने बताया कि राज्य सरकारें लॉकडाउन के तहत जारी किए गए दिशानिर्देशों को पालन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि जरूरी सामानों और सेवाओं की स्थिति संतोषजनक है।