सिकंदराराऊ 05 जनवरी । नगर में अलीगढ़ रोड स्थित आमोलचंद पब्लिक स्कूल में कल्याण सिंह बाबूजी के जन्म दिवस के अवसर पर छवि चित्र पर पुष्प अर्पित कर नमन कर याद किया गया।
बाबूजी को नमन करते हुए जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि बाबूजी एक ऐसी शख्सियत थे । जिन्होंने भगवान श्री राम जी के मंदिर निर्माण के लिए अपना पूर्ण योगदान दिया तथा बाबूजी लोगो के दिलों में हमेशा हिंदू हृदय सम्राट के रूप में राज करते रहेंगे।
विपिन वार्ष्णेय ने बाबूजी के छवि चित्र पर माल्यार्पण कर एवं पुष्प अर्पित कर नमन करते हुए कहा कि बाबूजी राममंदिर आंदोलन के सबसे बड़े चेहरे और दो बार प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे स्व.कल्याण सिंह जी की जयंती आज है। हिंदुत्व की राजनीति के नायक का खिताब पाने वाले राजनीति के इस दिग्गज पुरोधा के राजनीतिक सफर पर गौर करें तो संघ के स्वयं सेवक से लेकर सूबे के मुख्यमंत्री और राज्यपाल तक का सफर बेहद संघर्ष भरा रहा है। उन्होंने पद पर बने रहने के लिए कभी सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। इसी का परिणाम रहा कि अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाने से इंकार कर दिया। विवादित ढांचे के विध्वंस की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री पद को ठोकर मार दी और कहा कि राम मंदिर के लिए एक नहीं सैकड़ों सत्ता कुर्बान हैं। हालांकि अयोध्या के निर्माणाधीन मंदिर में विराजमान रामलला के दर्शन करने की उनकी इच्छा अधूरी रह गई। 89 वर्ष की उम्र में 21 अगस्त 2021 की देर शाम बीमारी के चलते उनका लखनऊ में देहांत हो गया। बाबूजी हमेशा लोगों के दिलों पर राज करते रहेंगे तथा उन्हें कभी भुलाया नहीं जा सकता है।
इस अवसर पर जय पाल सिंह चौहान, अशोक जादौन, विष्णु वार्ष्णेय, बबलू सिसोदिया, चेतन शर्मा, धीरज वार्ष्णेय, दीपक सक्सेना, देवेंद्र गुप्ता, कन्हैया वार्ष्णेय, राजीव वार्ष्णेय, श्याम माहेश्वरी, यशपाल आचार्य, आशु राघव, अशोक कुमार, नीरज यादव उर्फ नीरू आदि मौजूद रहे।