Hamara Hathras

14/06/2024 8:50 pm

Latest News

नई दिल्ली 07 जून । भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं एनडीए के नेता नरेन्द्र मोदी रविवार को तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। भाजपा नेता प्रह्लाद जोशी ने एनडीए की बैठक में इसकी घोषणा की। उन्होंने बताया कि नौ जून को शाम 6 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। एनडीए के नए सांसद मोदी को अपना नेता चुनने के लिए आज संविधान सदन (पुराने संसद भवन) के केन्द्रीय कक्ष में एकत्र हुए। इस दौरान मोदी को नेता चुना गया।  राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की बैठक में एनडीए के सभी 293 सांसद, राज्यसभा सांसद और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और डिप्टी मुख्यमंत्री मौजूद हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं एनडीए के नेता नरेन्द्र मोदी रविवार (9 जून) को तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। मोदी 3.0 के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में सेंट्रल विस्टा परियोजना पर काम करने वाले मजदूरों, ट्रांसजेंडरों, सफाई कर्मचारियों को भी न्योता भेजा गया है। साथ ही साथ सुरक्षा व्यवस्था भी काफी टाइट होने वाली है। सिक्योरिटी ऐसी रहेगी जिसके बाद एक परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा। सूत्रों ने बताया कि 9 जून को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह के लिए जी-20 शिखर सम्मेलन जैसी ही सुरक्षा व्यवस्था होगी। मध्य दिल्ली की सुरक्षा के लिए खुफिया एजेंसियों और सशस्त्र बलों के साथ समन्वय में जमीन से हवा तक निगरानी की व्यवस्था की जा रही है। किसी भी खतरे से निपटने के लिए हर तरह के इंतजाम किए जा रहे हैं। यह सुरक्षा इसलिए भी इतनी टाइट रखी जा रही है, क्योंकि इस शपथ ग्रहण समारोह में कई देशों के हुक्मरान शामिल होंगे। इसमें बांग्लादेश, मालदीव, श्रीलंका दक्षिण एशियाई देशों के शासनाध्यक्षों को आमंत्रित किया गया है।

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि भारत आज इतिहास रच रहा है। एनडीए एक बार फिर पूर्ण बहुमत के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने नरेन्द्र मोदी को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने अपने अथक प्रयास, अथक मेहनत और हर पल देश की सेवा के लिए समर्पित किया। इसके बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा। अमित शाह ने इसका समर्थन किया और नितिन गडकरी ने प्रस्ताव का अनुमोदन किया।

एनडीए के सहयोगी दलों के टीडीपी के नेता चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा और उसका समर्थन किया। बता दें कि एनडीए की बैठक में एनडीए के सभी 293 सांसद, राज्यसभा सांसद और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और डिप्टी मुख्यमंत्री मौजूद हैं। माना जा रहा है कि संसद के सेंट्रल हॉल में एनडीए की बैठक खत्म होने के बाद गठबंधन के नेता आज ही सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं।

टीडीपी (TDP) प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा, “हम सभी को बधाई देते हैं, हमने शानदार बहुमत हासिल किया है। मैंने चुनाव प्रचार के दौरान देखा है कि 3 महीने तक पीएम मोदी ने कभी आराम नहीं किया। दिन-रात उन्होंने प्रचार किया। उन्होंने उसी भावना के साथ शुरुआत की और उसी भावना के साथ खत्म किया। आंध्र प्रदेश में हमने 3 जनसभाएं और 1 बड़ी रैली की और इसने आंध्र प्रदेश में चुनाव जीतने में बहुत बड़ा अंतर पैदा किया।”

बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू नेता नीतीश कुमार ने प्रस्ताव का समर्थन करते हुए, “हमारी पार्टी जेडीयू, भाजपा संसदीय दल के नेता नरेंद्र मोदी को भारत के प्रधानमंत्री पद के लिए समर्थन देती है। यह बहुत खुशी की बात है कि 10 साल से ये पीएम हैं और फिर पीएम होने जा रहे हैं। इन्होंने पूरे देश की सेवा की है और उम्मीद है कि अगली बार सब पूरा कर देंगे। हम लोग पूरे तौर पर सब दिन इनके साथ रहेंगे। हमें लगता है कि अगली बार जब आएंगे तो कुछ सीट जो ये (विपक्ष) जीत गए हैं अगली बार सब हारेंगे।”

एलजेपी (रामविलास) के प्रमुख चिराग पासवान ने कहा कि मैं अपनी पार्टी एलजेपी (रामविलास) की तरफ से एनडीए संसदीय दल के नेता पद पर नरेंद्र मोदी के नाम का समर्थन करता हूं। चिराग पासवान ने कहा कि मेरे पिता और नेता रामविलास जी ने एक सपना देखा था, उन्होंने कहा था, मैं उस घर में दिया जलने चला हूं, जिस घर में सदियों से अंधेरा है। उन्होंने कहा कि करोड़ों लोगों के घरों का अंधेरा दूर करने की उम्मीद पीएम मोदी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts