सिकंदराराऊ (हसायन) 24 नवंबर | भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित लाभार्थियों से सीधे वार्ता करने एवं छूटे हुए पात्र व्यक्तियों को संचालित योजनाओं का लाभ दिलाए जाने के उद्देश्य से विकासखंड सिकंदराराऊ की ग्राम पंचायत सुजावलपुर के महाराणा प्रताप इन्टर कॉलेज में जिलाधिकारी अर्चना वर्मा की अध्यक्षता में चौपाल का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ जिलाधिकारी ने माँ सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलित कर एवं पुष्प अर्पित कर किया। ग्राम प्रधान, स्कूल प्रबंधक व प्रधानाचार्या ने जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व मंच पर उपस्थित अतिथियों का स्वागत बुके भेंट कर किया। जिलाधिकारी ने कहा कि चौपाल का आयोजन करने का मुख्य उद्देश्य शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ दिलाया जाना एवं समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर कराया जाना है। जिलाधिकारी ने समस्त विभागीय अधिकारियों को शासन द्वारा संचालित विभिन्न लाभपरक योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करने तथा पात्र व्यक्तियों को प्राथमिकता के आधार पर लाभान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपजिलाधिकारी से राजस्व संबंधी मामले जैसे चकरोड़ पर अवैध कब्जे, सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण को अभियान चलाकर तथा आपसी विवादों को सुलह-समझौते के आधार पर निस्तारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर जोर देते हुए कहा कि हमें अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजना चाहिए। शिक्षा के माध्यम से ही परिवार का सर्वांगीण विकास सम्भव है। उन्होंने गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं का नियमित रूप से टीकाकरण कराने तथा उनके शारीरिक व मानसिक विकास हेतु आहार में संतुलित पुष्टाहार शामिल करने का आवाहन किया। शासन द्वारा संचालित योजनाओं का बेहतर लाभ ग्रामीण जनता को उपलब्ध कराने हेतु लेखपाल, एडीओ पंचायत सहायक को संचालित योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करने एवं लोगों को जानकारी मुहैया कराने के निर्देश दिए। उन्होंने चौपाल में उपस्थित लोगों से शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ प्राप्त करने का आवाहन किया। जिलाधिकारी ने गोद भराई योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को पुष्टाहार प्रदान किया तथा गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से टीकाकारण कराने एवं बच्चे के उचित विकास हेतु भोजन में नियमित रूप से पौष्टिक आहार का शामिल करने के लिए कहा।

मुख्य विकास अधिकारी साहित्य प्रकाश मिश्र ने कहा कि चौपाल का मुख्य उददेश्य विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को दी जा रही सुविधाओं की यथास्थिति की जानकारी करना है कि उन्हें दिये जाने वाले लाभ मानक के अनुरूप प्राप्त हो रहे है कि नहीं। उन्होंने ग्रामीण जनता से शौचालयों का उपयोग करने का आवाहन किया। उन्होने कहा कि शौचालय का प्रयोग न करने से विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ उत्पन्न होती है, जिससे स्वास्थ्य तथा धन दोनों की हानि होती है। साथ ही साथ उन्होंने लोगों से पशुओं को खुले में न छोड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति शासन द्वारा संचालित की जा रही विभिन्न योजनाओं के लिये पात्र है। वह उस योजना के लिये ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। लाभार्थी के पात्र पाये जाने पर उन्हें योजना का लाभ अवश्य दिलाया जायेगा। चौपाल के दौरान उपस्थित ग्रामीणों ने विभिन्न विभागों से संबंधित अपनी-अपनी समस्याओं से अवगत कराते हुए शिकायती पत्र दिया। जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को प्राप्त शिकायतों का निस्तारण तत्काल गुणवत्तापूर्ण ढंग से कराने के निर्देश दिए। चौपाल प्रांगण में कृषि विभाग, महिला कल्याण विभाग, समाज कल्याण विभाग, जिला पूर्ति विभाग, मत्स्य विभाग, जिला कार्यक्रम विभाग, पंचायतीराज विभाग, पशुपालन विभाग, एनआरएलएम, दिव्यांगजन, सशक्तिकरण विभाग व अन्य विभागों द्वारा स्टॉल लगाकर शासन द्वारा संचालित योजनाओं के संबंध में ग्रामीणों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई तथा उनकी समस्याओं का समाधान किया गया। कार्यक्रम का संचालन जिला विकास अधिकारी अवधेश यादव द्वरा किया गया। कार्यक्रम के अंत में पूर्व विधायक सुरेश प्रताप गांधी विधायक ने जिलाधिकारी सहित उपस्थित अधिकारियों व कर्मचारियों एवं ग्रामीण जनता का आभार व्यक्त किया। इसके पश्चात् ग्राम प्रधान ने जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी को शॉल तथा राधाकृष्ण की स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
चौपाल के दौरान उप जिलाधिकारी सिकंदराराऊ, परियोजना निदेशक, डीसी मनरेगा, सीओ सिकंदराराऊ, उप निदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायतराज अधिकारी, खंड विकास अधिकारी सिकंदराराऊ, अधिशासी अभियंता जल निगम ग्रामीण, अधिशासी अभियंता विद्युत आदि उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here