कोलकाता 21 मई | अम्फान ने पश्चिम बंगाल को हिलाकर रख दिया। 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं तो लोग दहल गए। कोलकाता एयरपोर्ट पर खड़े 40 टन (40 हजार किलो) के प्लेन भी चक्रवात अम्फान में थरथराने लगे। देखते ही देखते पूरा एयरपोर्ट जनमग्न हो गया। चक्रवात अम्फान से कोलकाता एयरपोर्ट का बुरा हाल है | बंगाल के कई लोगों का कहना है कि उन्होंने ऐसा तूफान पहले कभी नहीं देखा तो कुछ बुजुर्गों ने कहा कि तीस दशक पहले उन्होंने ऐसी तबाही देखी थी। चक्रवात अम्फान ओडिशा से होते हुए पश्चिम बंगाल पहुंचा है।एयरपोर्ट पर खड़े प्लेन को देखकर लग रहा है जैसे वह किसी नदी से बीच में उतार दिया गया हो। प्लेन के पहिए पूरी तरह से पानी में डूबे हैं। हर तरफ सिर्फ पानी ही पानी नजर आ रहा है। लगभग छह घंटे तक बंगाल में चक्रवात का तांडव चला। बंगाल में 12 लोगों की अब तक चक्रवात से मौत हुई है। एयरपोर्ट में कार्गो सेवाओं की जो उड़ाने संचालित हो रही थीं वे भी बंद कर दी गईं।

 

अम्फान से कोलकाता में कई जगहें डूब गईं। इससे यहां का एयरपोर्ट भी अछूता नहीं रहा। तेज हवाओं से एयरपोर्ट का कुछ हिस्सा प्रभावित हुआ है। रनवे का नजारा किसी विशाल नदी जैसा नजर आ रहा है। हैंगर्स एरिया में भी पानी भरा नजर आया। कोलकाता एयरपोर्ट पर लोगों ने ऐसा पहली बार देखा। अम्फान तूफान की रफ्तार के आगे 40-40 टन के जहाज भी थरथरा रहे थे। उनके पहियों के लिए चोक्स (अवरोधक) लगाए गए थे जिससे वे हवा में इधर-उधर हिलकर एक दूसरे को नुकसान न पहुंचा दें | पश्चिम बंगाल के कोलकाता समेत तटीय इलाकों में चक्रवात अम्फान से तबाही मचाई। क्रिस्टोफर रोड पर खंभे से टूटकर सड़क पर जिंदा तार गिर गया। कई घरों की छतें उड़ गईं। सड़कों पर पानी भर गया। पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान अम्फान का असर दिखना शुरू हो गया है। दीघा में समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरें और तूफानी हवाएं चलनी शुरू हो गई हैं। अम्फान पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप से ही टकराने वाला है। इस दौरान स्थानीय पुलिस लोगों को आगाह कर रही है कि वे किसी भी हाल में अपने घरों के अंदर ही रहें।