सिडनी 09 नवंबर | भारत और जिम्बाब्वे से सुपर-12 में हारकर टी-20 वर्ल्ड कप 2022 से बाहर होने की कगार पर खड़ी पाकिस्तान किस्मत के सहारे सेमीफाइनल में पहुंचा और आज न्यूजीलैंड को पीटकर फाइनल में एंट्री मार ली। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर वह सबकुछ देखने को मिला जो इस मैच से पहले पाकिस्तान ने नहीं किया था। उसने गेंदबाजी जबरदस्त की, फील्डिंग में करिश्मा किया तो अब तक कमजोर कड़ी रहे बाबर आजम (53) और मोहम्मद रिजवान (57) के बल्ले से जमकर रन बरसाए और पाकिस्तान ने 7 विकेट से मैदान मार लिया। वह तीसरी बार फाइनल में पहुंचा है। अब उसका मुकाबला भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विनर से 13 नवंबर को होगा।स्टार प्लेयर्स से भरी न्यूजीलैंड की टीम को 1992 वनडे वर्ल्ड कप की तरह सेमीफाइनल में दिल तोड़ने वाली हार सहनी पड़ी। केन विलियमसन की कप्तानी वाली टीम बैटिंग के अनुकूल पिच पर 4 विकेट पर 152 रन ही बना सकी। जवाब में टूर्नामेंट अब तक लय में नहीं दिखे बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की जोड़ी ने धमाकेदार शुरुआत दी। बाबर आजम को पहले ही ओवर की तीसरी गेंद पर जीवनदान मिला तो रिजवान ने पहली ही गेंद पर चौका जड़ा। तीसरे ओवर में ट्रेंट बोल्ट को 3 चौके पड़े तो पाकिस्तान के फैंस की खुशी देखने बन रही थी। हर कोई समझ गया था कि आज कुछ भी हो सकता है।

अहम मौके पर पाई फॉर्म, बाबर आजम की पहली हाफ सेंचुरी
पाकिस्तान ने 5.3 ओवरों में ही हाफ सेंचुरी पूरी की। देखते ही देखते 11वें ओवर की आखिरी गेंद पर बाबर आजम ने 38 गेंदों में 50 रनों का स्कोर छुआ। यह उनका टूर्नामेंट में पहली फिफ्टी रही। दूसरी ओर, रिजवान ने 50 रन पूरा करने के लिए 36 गेंदों का सामना किया। हालांकि, 13वें ओवर में बाबर आजम को बोल्ट ने मिशेल के हाथों कैच आउट कराया। वह 42 गेंदों में 7 चौके की मदद से 53 रन बनाए।

रिजवान आउट हुए, लेकिन न्यूजीलैंड नहीं बचा पाया मैच
पाकिस्तान जीत के करीब था तभी मोहम्मद रिजवान का विकेट गिर गया। मोहम्मद रिजवान ने 43 गेंदों में 7 चौके की मदद से 57 रन बनाए। इसके बाद मोहम्मद हारिस ने नाबाद 30 ने 2 चौके और एक छक्का उड़ाते हुए 19.1 ओवरों में जीत हासिल कर ली। मैच में ट्रेंट बोल्ट ने 2 विकेट झटके।

न्यूजीलैंड की पारी का रोमांच
इससे पहले शाहीन शाह अफरीदी की अगुवाई में अपने गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड को 4 विकेट पर 152 रन पर रोक दिया। न्यूजीलैंड के लिए डेरिल मिशेल ने 35 गेंद में नाबाद 53 और कप्तान केन विलियमसन ने 42 गेंद में 46 रन बनाकर स्कोर 150 के पार पहुंचाया। ग्रुप चरण में औसत प्रदर्शन के बाद किस्मत के सहारे सेमीफाइनल तक पहुंची पाकिस्तानी टीम के तेवर आज बिल्कुल बदले हुए थे। उसके गेंदबाजों ने अनुशासित प्रदर्शन किया और क्षेत्ररक्षण भी काफी मुस्तैद था।

शाहीन अफरीदी ने बिगाड़ा खेल
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का कीवी कप्तान केन विलियमसन का फैसला गलत साबित हो गया जब अफरीदी ने पहले ओवर में ही उन्हें करारा झटका दिया। फिन एलेन ने पहली गेंद पर अफरीदी को चौका जड़ा लेकिन अगली ही गेंद पर बल्लेबाज चकमा खा गया और मैदानी अंपायर ने उन्हें पगबाधा करार दिया। न्यूजीलैंड के रिव्यू लेने पर पता चला कि बल्ला गेंद पर लगा था और बल्लेबाज के पक्ष में फैसला गया। अगली ही गेंद पर हालांकि अफरीदी ने उसी अंदाज में फिन को पगबाधा आउट करके पाकिस्तान को शानदार शुरुआत दिलाई।

कॉन्वे हो गए रन आउट, फिर बना दबाव
नए बल्लेबाज डेविड कॉन्वे ने अगले ओवर में नसीम शाह को दो चौके लगाकर न्यूजीलैंड पर से दबाव कम करने की कोशिश की। पहले बदलाव के तौर पर आए हारिस रऊफ ने अपने पहले ओवर में चार रन ही दिए। न्यूजीलैंड का दूसरा विकेट छठे ओवर में गिरा जब क्रीज पर जमते दिख रहे डेवोन कॉन्वे तेजी से रन चुराने के प्रयास में रन आउट हो गए। अगले ओवर में ग्लेन फिलिप्स को मोहम्मद नवाज ने रिटर्न कैच लेकर पवेलियन भेजा। इस समय न्यूजीलैंड का स्कोर आठ ओवर में तीन विकेट पर 49 रन था।

आखिरी में विलियमसन-मिशेल की साझेदारी
इसके बाद विलियमसन और मिशेल ने चौथे विकेट के लिए 50 गेंद में 68 रन की साझेदारी की। विलियमसन ने पारी के सूत्रधार की भूमिका निभाते हुए इक्के दुक्के रन लिए और ढीली गेंदों को नसीहत दी। दोनों ने 50 रन सिर्फ 36 गेंद में जोड़े लेकिन चौके छक्के बहुत मुश्किल से लगे। कीवी पारी में कुल दो ही छक्के लगे जिनमें से एक विलियमसन और एक मिशेल ने जड़ा। पूरी पारी में सिर्फ दस चौके लग सके। विलियमसन अर्धशतक से चार रन पीछे रह गए और 17वें ओवर में अफरीदी ने उन्हें बोल्ड किया। मिशेल और जेम्स नीशाम (नाबाद 16) ने 22 गेंद में 35 रन की साझेदारी की लेकिन आखिरी ओवरों में तेजी से नहीं खेल सके। न्यूजीलैंड ने आखिरी पांच ओवर में सिर्फ 46 रन बनाए।