हाथरस 31 दिसम्बर । प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के राजयोगा एजूकेशन एण्ड रिसर्च फाउण्डेशन के ग्राम्य सेवा प्रभाग द्वारा चलाये जा रहे अभियान ‘‘आत्मनिर्भर किसान’’ के अन्तर्गत किसान सम्मेलन तथा किसानों के सम्मान के तहत सासनी ब्रह्माकुमारीज केन्द्र पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर थीम के अन्तर्गत जनवरी से दिसम्बर तक चलाये गये अभियान में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन वर्षभर किया गया। इसी के तहत प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के आनन्दपुरी कालोनी हाथरस से सम्बद्ध सासनी में रूदायन रोड स्थित संगम मार्केट में स्थित ब्रह्माकुमारीज परिवार द्वारा नववर्ष का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया।
किसान सम्मान सम्मेलन में पूर्व एस0डी0ओ0 फोन्स बी0के0 पंचम सिंह को रासायनिक खाद के स्थान पर देशी खाद आदि की जैविक खेती तथा उसमें योग के प्रयोग को शामिल करते हुए शाश्वत यौगिक खेती के लिए सम्मानित किया गया। हाथरस शान्तिभवन, आनन्दपुरी कालोनी केन्द्र प्रभारी बी0के0 शान्ता बहिन ने बताया कि खेती में योग के प्रयोग से फसल पोषक एवं उत्पादन अधिक होता है ऐसा पाया गया। यह एक वैज्ञानिक अनुसंधान है कि हर प्रकृति का तत्व संवेदना रखता है। यदि प्रकृति के पाँच तत्वों के साथ पेड़ पौधों के लिए शुभभावना शुभकामना के प्रकम्पन फैलाये जाये तो वे उन्हें ग्रहण करते हैं।
आत्मनिर्भर किसान अभियान के अन्तर्गत आयोजित कार्यक्रम में बी0के0 पंचम सिंह के अलावा महावीर सिंह, पवन कुमार, रामप्रसाद, ऊषा, सत्यवती, तुलसी, कमलेश, सुनीता, ममता आदि का सम्मान पीतवस्त्र एवं भेंट देकर किया गया।
इस अवसर पर बी0के0 कोमल बहिन ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह सनातन सत्य है कि पौधोें में होती है जान अगर किसान शाश्वत यौगिक खेती करे तो उनकी बनेगी पहचान।
संचालन बी0के0 श्वेता बहिन ने किया। कार्यक्रम प्रबन्धन में बी0के0 उमा बहिन, बी0के0 दुगेश बहिन, कस्तूरी माता की भूमिका रही। इस अवसर पर एस0आई0 दिनेश सिंह आदि उपस्थित थे।