हाथरस 12 नवंबर | टेक्नोलॉजी के बढ़ते उपयोग के साथ ही समाज के सभी वर्गों को इसे संभालने का हुनर और साथ में संभावित खतरों से बचने का ज्ञान भी होना चाहिए। इसी विचार को ध्यान में रखते हुए दून पब्लिक स्कूल, हाथरस में आज बढ़ते हुए “साइबर क्राइम” से बच्चों और बड़ों  का बचाव कैसे हो, विषय पर विद्यालय प्रधानाचार्य  जेके अग्रवाल ने अपने शिक्षक/ शिक्षिकाओं के लिए एक कार्यशाला का आयोजन करवाया। इस कार्यशाला के प्रस्तुतकर्ता साइबर क्राइम सलाहकार भानु शर्मा थे। सुप्रसिद्ध साइबर सुरक्षा सलाहकार भानु शर्मा ने उपस्थित शिक्षक/शिक्षिकाओं को अनेक साइबर हमलों जैसे- फिशिंग, डाटा ब्रीचिंग, माॅर्फिग, अकाउंट हैकिंग आदि के बारे में अवगत कराया। कार्यशाला में विद्यालय के सभी शिक्षक/ शिक्षिकाओं ने भाग लिया और साइबर क्राइम से होने वाली व्यक्तिगत दुर्घटनाओं के प्रति जागरूकता प्राप्त की। कार्यशाला में सभी ने यह जाना कि अपने आधार कार्ड, बैंक डिटेल्स, ओटीपी आदि किसी से साझा नहीं करना चाहिए। किसी भी वेबसाइट पर जाते समय यूआरएल का विशेष ध्यान रखना चाहिए। किसी भी ऐप को अपने फोन में विभिन्न फोल्डर का एक्सेस बिना जाने नहीं देना चाहिए। किसी अनजान कॉल उठाने से पहले कैमरा बंद
करना चाहिए। इसके साथ यदि किसी साइबर हमले का शिकार होने पर  किसी तरह और कहां इसकी शिकायत दर्ज करानी है। कार्यशाला में साइबर क्राइम को रोकने के लिए 1930 हेल्पलाइन नंबर की भी जानकारी दी गई। विद्यालय प्रधानाचार्य जेके अग्रवाल ने भानु जी को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया साथ ही उन्होंने कहा कि सभी विद्यार्थियों और शिक्षक शिक्षिकाओं को भविष्य में साइबर दुनिया के प्रति जिम्मेदारों और सचेत होकर कार्य करने की सलाह दी। भानु जी के द्वारा शिक्षक/ शिक्षिकाओं के विभिन्न संदे हों का समाधान करने के पश्चात धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यशाला का
समापन हुआ।