कोरोना की मार से

आओ खुद को दूर रखें हम
कोरोना की मार से।
और बचायें इस दुनिया को
भय से, हाहाकार से।

खुद भी चेतें और सभी को
चेतायें इस हाल में।
एक सूत्र में बँध जायें हम
ऐसे संकटकाल में।।

करें जागरुक जन-जन को हम
अपने एक विचार से।
आओ खुद को दूर रखें हम
कोरोना की मार से।।

कर्फ्यू का पालन करके हम
सभी सुरक्षित हो जायें।
भग जाये डरकर कोरोना
साहस ऐसा दिखलायें।।

दूर रहें बैठक, पंचायत
झुंड, सड़क, बाजार से।
आओ खुद को दूर रखें हम
कोरोना की मार से।।

हँसी मजाक न समझे कोई
छोटी-छोटी बातों को।
कर सकते हैं दूर अरे! हम
बड़े-बड़े आघातों को।।

खण्ड खण्ड होता पत्थर भी,
छोटे-छोटे वार से।
आओ खुद को दूर रखें हम
कोरोना की मार से।।

                                                – अवशेष मानवतावादी