Hamara Hathras

14/06/2024 9:55 am

Latest News

वाराणसी 14 मई । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से तीसरी बार नामांकन दाखिल किया। पीएम मोदी ने यहां के कलेक्ट्रेट में पर्चा भरा है। इस मौके पर उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके प्रस्तावक गणेश्वर शास्त्री द्रविड़ मौजूद रहे। पीएम नरेंद्र मोदी ने नामांकन दाखिल करने से पहले काल भैरव की पूजा-अर्चना की, वो गंगा सप्तमी के अवसर पर वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की पूजा करने के बाद क्रूज पर सवार होकर नमो घाट पहुंचे। पीएम मोदी के नामांकन के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ के अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री सीएम एकनाथ शिंदे भी मौजूद रहे। साथ ही इस दौरान सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर भी शामिल रहे। पीएम मोदी ने वाराणसी से ही 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की थी। इस बार फिर वो बीजेपी के टिकट से बनारस से चुनावी मैदान में उतरे हैं। ऐसे में काशी में दिग्गजों का जमावड़ा लगा है। नामांकन स्थल पर गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित कई राज्य के मुख्यमंत्री मौजूद रहे।

नामांकन के बाद पीएम का ट्वीट 

नामांकन दाखिल करने के बाद ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में प्रधानमंत्री ने कहा, “काशी के मेरे परिजनों का हृदय से आभार! वाराणसी से लगातार तीसरी बार नामांकन कर बेहद उत्साहित हूं।” उन्होंने कहा. “बीते 10 वर्षों में आप सबसे जो अद्भुत स्नेह और आशीर्वाद मिला है, उसने मुझे निरंतर सेवाभाव और पूरे संकल्प के साथ काम करने के लिए प्रेरित किया है। आपके भरपूर समर्थन और सहभागिता से मैं अपने तीसरे टर्म में भी नई ऊर्जा-शक्ति के साथ यहां के चौतरफा विकास और जनता-जनार्दन के कल्याण में जुटा रहूंगा। जय बाबा विश्वनाथ!” इस पोस्ट के साथ प्रधानमंत्री ने नामांकन के दौरान की कुछ भी तस्वीरें भी शेयर की।

सातवें चरण में होगा मतदान

मोदी ने वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से नामांकन दाखिल करने से पहले मंगलवार को सुबह गंगा नदी के तट पर दशाश्वमेध घाट पर पूजा की और काल भैरव मंदिर में दर्शन किए। वाराणसी में लोकसभा चुनाव के सातवें चरण में एक जून को मतदान होगा। वाराणसी संसदीय सीट पर मोदी ने 2014 में पहली बार और 2019 में दूसरी बार जीत हासिल की थी। सफेद कुर्ता-पायजामा और नीली सदरी पहने मोदी अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए वाराणसी जिलाधिकारी के कार्यालय (कलेक्ट्रेट) पहुंचे। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनके साथ थे। नामांकन दाखिल करते समय प्रधानमंत्री मोदी के साथ, अयोध्या के राम मंदिर में भगवान राम लला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा का मुहूर्त निकालने वाले पंडित गणेश्वर शास्त्री और पटेल जनसंघ के समय के पुराने कार्यकर्ता और पिछड़ा वर्ग के बैजनाथ पटेल मौजूद थे। गणेश्वर शास्त्री द्रविड़, बैजनाथ पटेल, लालचंद कुशवाहा व दलित समाज के संजय सोनकर प्रधानमंत्री के नामांकन के चार प्रस्तावक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts