सिकंदराराऊ 23 सितम्बर | राष्ट्रीय विप्र एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष मित्रेश चतुर्वेदी ने प्रेस को जारी एक बयान के माध्यम से देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी को सनातन को कमजोर करने की साजिश बताते हुए कड़ी निंदा की है तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखकर आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी किए जाने की मांग की है और आरोपी पर कार्रवाई न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है । चतुर्वेदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे पत्र के माध्यम से कहा है कि हाथरस जनपद में एक बहुजन समाज पार्टी के समर्थक राजपाल पुनिया ने देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी की है। यह मात्र एक टिप्पणी नहीं है बल्कि सनातन को कमजोर करने और तोड़ने की बड़ी साजिश है। कानूनी तौर पर देखा जाए तो सामाजिक समरसता को बिखेरने के लिए उठाया गया समाज विरोधी घातक कदम है। ऐसे व्यक्ति के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। कई थानों में अब तक लोगों द्वारा इस प्रकरण में मुकदमे भी दर्ज कराई जा चुके हैं। लेकिन अभी तक इसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

उक्त प्रकरण में सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाकर आरोपी को कठोरतम सजा दिलाई जाए। उन्होंने कहा है कि सनातन संस्कृति के प्रतिकूल विभिन्न प्रकार की टिप्पणियां समय-समय पर सुनने और देखने को मिलती हैं, जो कतई बर्दाश्त नहीं की जा सकती। समाज में ऐसे लोग और शक्तियां काम कर रही हैं जो सनातन संस्कृति एवं ताने-बाने को तहस नहस करना चाहती हैं । यह शक्तियां समाज विरोधी जहर घोलने का काम कर रही हैं। सनातन संस्कृति के अंगों को आपस में लड़ाना चाहती हैं। इसलिए आए दिन योजनाबद्ध तरीके से हिंदू देवी-देवताओं पर सवाल खड़े किए जाते हैं और उन को अपमानित करने की कोशिश होती है। राष्ट्रीय विप्र एकता मंच ऐसी किसी भी हरकत को बर्दाश्त नहीं करेगा और जरूरत पड़ने पर सनातन संस्कृति की रक्षा की खातिर सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने को बाध्य होगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here