हाथरस 10 फरवरी । व्यक्ति के मानव अधिकारों के संरक्षण और संवर्धन का कार्य कर रही एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक हृयूमन राइट्स संस्था अज्ञात शवों के धार्मिक रीति-रिवाज से दाह संस्कार का कार्य कर रही है
अज्ञात शव को एडीएचआर की देखरेख और समाजसेवी सुनीत आर्य के नेतृत्व में दाहसंस्कार किया गया जिसके दाहसंस्कार की व्यवस्था मे एनएसएस अध्यक्ष सुनील अग्रवाल का पूर्णरूपेण सहयोग रहा।
बीते 5 फरवरी को सासनी कोतवाली के अंतर्गत लुटसान ग्राम के नजदीक एक व्यक्ति स्थानीय नागरिकों को अचेत अवस्था में मिला स्थानीय नागरिकों ने उसको पुलिस की सहयोग से सीएचसी में भर्ती कर दिया उक्त व्यक्ति की उम्र लगभग 28 वर्ष थी सी एच सी  से उसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया दिनांक 7 फरवरी 2024 को उपचार के दौरान उस व्यक्ति की मृत्यु हो गई मृतक गहरी हरी रंग की शर्ट, फुल बाजू का बादामी पीला स्वेटर, काली रंग की जैकेट, काली पजामी व नीले रंग का लोअर पहना हुए था।
पुलिस द्वारा शव को शिनाख्त के लिए 72 घंटे रखा शव की शिनाख्त न होने के कारण शव को थाना पुलिस द्वारा लावारिस घोषित कर पोस्टमार्टम कराया गया। उसके उपरांत पुलिस द्वारा समाजसेवी सुनीत आर्य व प्रवीन वार्ष्णेय से शव के अंतिम संस्कार के लिए अनुरोध किया गया। समाजसेवियों द्वारा उपरोक्त शव का हिंदू रीति रिवाज दाहसंस्कार किया।
अंतिम संस्कार सुनील अग्रवाल अध्यक्ष निस्वार्थ सेवा संस्थान, प्रवीन वार्ष्णेय राष्ट्रीय महासचिव एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक ह्यूमन राइट्स समाजसेवी सुनीत आर्या, आयोग दीपक, बंटी भाई कपड़े वाले, साथ में रोमी ठाकुर, नंदकुमार नंदू कनज सारस्वत, मोहनलाल गोस्वामी, बंटी कुमार वार्ष्णेय, कांस्टेबल रवि कुमार, होमगार्ड निरंजन सिंह मौजूद रहे।