सादाबाद 30 दिसंबर | बाल विकास परियोजना विभाग में कंप्यूटर ऑपरेटर द्वारा घूस मांगे जाने का मामला सामने आया है। जबकि घूस लेने के आरोपी कंप्यूटर ऑपरेटर ने विधायक प्रतिनिधि के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने के मामले में पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी है। पुलिस दोनों स्तर पर मामले की जांच किए जाने की बात कह रही है।

माह अगस्त में सीडीपीओ द्वारा कंप्यूटर ऑपरेटर के साथ सहपऊ ब्लॉक के एक आंगनवाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया गया था। निरीक्षण के दौरान केंद्र पर कुछ खामियां मिली थी। इसके बाद यहां तैनात कार्यकत्री को कंप्यूटर ऑपरेटर द्वारा कॉल करके बुलाया गया था। सीओ को दिए गए प्रार्थना पत्र में कार्यकत्री का आरोप है कि कार्यवाही से बचाए जाने के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर ने 20000 रुपए की रिश्वत मांगी थी। बातचीत के दौरान वीडियो बनाए जाने पर कंप्यूटर ऑपरेटर ने अभद्रता, छेड़छाड़ करते हुए जातिसूचक शब्दों का प्रयोग किया था। बाद में पीड़िता ने रिश्वत के रूप में 12000 रुपए कंप्यूटर ऑपरेटर को दे दिए थे। कंप्यूटर ऑपरेटर हाल ही में से 8000 रुपएकी डिमांड करने लगा। इसलिए पीड़िता शिकायत लेकर विधायक कार्यालय पहुंच गई। यहां प्रतिनिधि द्वारा उसकी बात सुनी गई और मामले के निस्तारण के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर को भी बुलाया गया। इसके बाद कंप्यूटर ऑपरेटर ने पुलिस अधीक्षक को शिकायत देते हुए विधायक प्रतिनिधि पर उसके सम्मान को ठेस पहुंचाने, जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। इस मामले में विधायक गुड्डू चौधरी बताते हैं कि मामला उनके संज्ञान में हैं। आंगनबाड़ी कार्यकत्री ने बताया है कि कंप्यूटर ऑपरेटर ने 12000 रुपए की रिश्वत ली है। महिला बच्चों की कसम खाकर 20000 रुपए रिश्वत मांगे जाने की बात कह रही थी। पोल खुलने पर कंप्यूटर ऑपरेटर भड़क गया और इधर उधर से शिकायत कर रहा है। सीओ रुचि गुप्ता ने बताया कि 28 अगस्त की घटना है। सीडीपीओ ने कर्मचारी के साथ निरीक्षण किया था। इस दौरान 20000 रुपए रिश्वत मांगे जाने का आरोप लगाया है। पूछताछ के लिए आरोपी को बुलाया गया था लेकिन वह नहीं आया। सीडीपीओ को कहकर आरोपी को बुलाया गया है।