हाथरस 25 नवंबर | अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रम के अंतर्गत लगातार दूसरे दिन आज 24 नवंबर 2022 को दून पब्लिक स्कूल, हाथरस के विद्यार्थियों ने प्रधानाचार्य जे०के० अग्रवाल के सुदृढ़ नेतृत्व में आइविका- 291 कार्यक्रम के “वातावरण में बदलाव” विषय पर साउथ कोरिया और अमेरिका के विद्यार्थियों के साथ अपने अपने विचारों एवं गतिविधियों का आदान प्रदान किया। दून पब्लिक स्कूलके प्रधानाचार्य जे० के० अग्रवाल इस महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम को पिछले 8 वर्षों से विश्व के विभिन्न देशों फ्रांस, जर्मनी,यू०एस०, इंग्लैंड, जापान, कजाकिस्तान, टर्की आदि के  साथ सांस्कृतिक विचारों के विनिमय को सफलतापूर्वक अंजाम देते आ रहे हैं। इसी क्रम में आज भारत की ओर से दून पब्लिक स्कूल की कक्षा आठवीं एवं सातवीं के विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया। जिनमें- याशिका राणा, आस्था पाठक, तनिष्का वर्मा, सुरम्या चतुर्वेदी, सुरभि गोयल, शुभम यादव, चित्रांगदा शर्मा, लवी अग्रवाल, रियांशी सिंह, भव्य शर्मा, प्रतिष्ठा सिंह, विनम्रता शर्मा, अंशिका कौशिक प्रतिभागी रहे। सांस्कृतिक रूप से सक्षम वैश्विक नागरिक तैयार करने के उद्देश्य से जो सांस्कृतिक विविधता को समझने और सामंजस्य स्थापित करने में सक्षम हैं उनके सहयोग से दून पब्लिक स्कूल में “आइविका” की शुरुआत हुई‌।

लाइव क्लासेज के अंतर्गत दून पब्लिक स्कूल, के विद्यार्थियों ने प्रोजेक्ट “वातावरण में बदलाव” की प्रस्तुतियों को अमेरिका और साउथ कोरिया के छात्रों एवं शिक्षकों के साथ गुणवत्तापूर्ण अपने-अपने विचारों को साझा किया, इंचियोन चियोंघो मिडिल स्कूल, दक्षिण कोरिया की शिक्षिका सुश्री बेला जैक्सन एवं विद्यार्थी-जियोंगपार्क,येवोन चुई , जएइयोन इन,एइन किम, गाउन रयू, ताएओन लिम, ऐना किम, जिहू जेओंग, सूअ किम, मिनसेओ हान, जुनही हान और  दून पब्लिक स्कूल की शिक्षिका ने प्रियंका सिंह एवं श्वेता उपाध्याय के कुशल मार्गदर्शन में लाइव वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के आलोक में छात्रों ने अपने विचार व्यक्त किए। इस कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थियों ने अपने इस अलौकिक अनुभव को और अधिक रोचक बनाने के लिए एक उपयोगी चर्चा एवं प्रश्नोत्तरी सत्र भी रखा। जिसमें वैश्विक दोस्ती का जश्न मनाने के लिए सांस्कृतिक प्रदर्शनों का आदान-प्रदान किया गया। दक्षिण कोरिया के छात्रों ने पारंपरिक संगीत के साथ अपनी कलात्मक प्रतिभा का प्रदर्शन किया तो वहीं दून पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने भांगड़ा एवं भरतनाट्यम की दो प्रस्तुतियों के माध्यम से अपनी अनूठी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रम का दोनों विद्यालयों के प्रधानाचार्य द्वारा अपने-अपने विदाई संदेशों के आदान-प्रदान के साथ हुआ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here