सादाबाद/सिकंदराराऊ 24 नवम्बर | नेहरू युवा केन्द्र द्वारा भारत की भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाॅधी की जयन्ती के उपलक्ष में 19 नवंबर से 25 नवंबर तक कौमी एकता सप्ताह मनाया जा रहा है, जिसके तहत आज दिनांक 24 नवंबर को हाथरस के विकास खण्ड-सहपऊ और सिकंदराराऊ में कौमी एकता में युवाओं की भूमिका पर क्विज प्रतियोगिता एवं विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। क्विज प्रतियोगिता में सहपऊ और सि.राऊ के गाॅवों के 60-65 छात्र-छात्रओं ने प्रतिभाग किया।
विकासखण्ड- सिकंदराराऊ के स्वयं सेवक अंजुल कुमार ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि कौमी एकता सप्ताह के तहत 25 नवंबर तक विविध कार्यक्रम आयोजित किए जा रहें है। 25 नवंबर को सरंक्षण दिवस मनाया जाएगा। स्वयं सेवक रोहित कुमार ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि कौमी एकता सप्ताह का आयोजन हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। कौमी एकता न सिर्फ तमाम सम्प्रदायों के मध्य सदभावना बढाने का कार्य करती है बल्कि लोगों में भाई चारा और एकता की भावना को भी बढाती है। कौमी एकता हमारे देश के विभिन्न जातियों, धर्मो और संप्रदायों को एक साथ लाने का कार्य करता है। राष्ट्रीयता का मतलब हमारा भारतीय होना है। हमारी एकता ही हमारी असली शक्ति है। यही कारण है कि कौमी एकता सप्ताह हमारे लिए बहुत महत्व रखता है। इस अवसर पर सभी को देश की एकता और अखंडता बनाए रखने में सहयोग हेतु शपथ दिलाई गयी।

विकास खण्ड-सहपऊ के स्वयं सेवक संतोष कुमार ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सप्ताह हम भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गाॅधी की जयन्ती के उपलक्ष में मना रहे हैं। कौमी एकता सप्ताह सार्वजनिक सदभाव और राष्ट्रीय एकता की ताकत को और मजबूत करने के लिए मनाया जाता है। हमें भारत में विविधता में एकता का वास्तविक मतलव समझना चाहिए। सभी धर्म समुदाय के होने के बाबजूद हम सब एक है। सभी मतभेदों के बाबजूद भी हमें बिना किसी राजनीतिक और सामाजिक विरोधाभास के शान्ति से एक-दूसरे के साथ रहना चाहिए । क्विज प्रतियोगिता में चेतन आदित्य, राघव, अवधेश, मोहित, कुलदीप, अभिषेक, प्रियांशु कौशल, गौरव लवकुश आदि का सहयोग सराहनीय रहा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here