नई दिल्ली 01 नवम्बर | आज से नवंबर महीना शुरू हो गया है। नए महीने की शुरुआत नए बदलावों के साथ होगी। इस माह से कुछ बदलाव किए गए हैं। इसका असर जनता की जेब पर पड़ेगा। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण बीमा कंपनियों के लिए 1 नवंबर से केवाईसी कराना अनिवार्य कर सकता है। गैर-जीवन बीमा पॉलिसी खरीदते समय KYC विवरण प्रदान करना वैकल्पिक होगा। अगर आप बीमा दावा करते समय केवाईसी डॉक्यूमेंट्स जमा नहीं करते हैं, तो आपका क्लेम खारिज किया जा सकता है।

रसोई गैस के लिए लागू होगा कोड सिस्टम

पेट्रोलियम कंपनियां हर महीने के पहले दिन रसोई गैस के दाम में बदलाव करती हैं। तेल कंपनियां गैस सिलेंडर की नई कीमतों की घोषणा करेंगी। एलपीजी सिलेंडरों के वितरण से संबंधित प्रक्रिया में भी बदलाव होगा। गैस बुकिंग के बाद कस्टमर के मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा। सिलेंडर डिलीवरी के लिए आने पर आपको इस OTP को डिलीवरी बॉय के साथ शेयर करना होगा। इस कोड को सिस्टम से मिलान करने के बाद ही ग्राहक को सिलेंडर की डिलीवरी मिलेगी।

ट्रेन के शेड्यूल में होगा बदलाव

1 नवंबर से ट्रेन के शेड्यूल में भी बदलाव होगा। भारतीय रेलवे देशभर में ट्रेनों के टाइम टेबल में बदलाव करने जा रहा है। 13 हजार पैसेंजर ट्रेनों और सात हजार मालगाड़ियों के समय में बदलाव किया जाएगा।