हाथरस 02 अक्टूबर | श्री रामेश्वरदास अग्रवाल कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आजादी के 75 वें वर्ष के उपलक्ष्य मे मनाए जा रहे आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत प्राचार्या प्रो० इंदु वार्ष्णेय के निर्देशन में आज छात्र कल्याण समिति तथा सांस्कृतिक समिति के संयुक्त तत्वावधान में गांधी एवं शास्त्री जयंती तथा सेवा पखवाड़ा कार्यक्रम विविधता में एकता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्या प्रो० इंदु वार्ष्णेय, सांस्कृतिक प्रभारी डॉ० लीना चौहान, छात्र कल्याण समिति प्रभारी डॉ० रंजना गुप्ता तथा वरिष्ठ शिक्षिकाओं द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलित कर तथा गांधी जी और शास्त्री जी के छवि चित्र पर माल्यार्पण करके किया गया। कार्यक्रम की रंगारंग शुरुआत महाविद्यालय की छात्राओं द्वारा लोक नृत्य की प्रस्तुति के साथ हुई। आज विभिन्न प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया, जिसमें प्रथम स्थान राजस्थानी लोक नृत्य बी०ए० तृतीय वर्ष की छात्रा कुछ नीलम, द्वितीय स्थान पंजाबी नृत्य पर प्रियंका बी०ए० प्रथम वर्ष प्रथम सेमेस्टर को तथा तृतीय स्थान बी०ए० प्रथम वर्ष प्रथम सेमेस्टर की छात्रा रागिनी भारद्वाज को महिषासुर मर्दिनी नृत्य को मिला। लोक परिधान प्रतियोगिता में प्रथम स्थान गुजराती परिधान पर कु० लकी बी०ए० तृतीय सेमेस्टर, द्वितीय स्थान राजस्थानी परिधान पर आरती चौधरी बी०ए० तृतीय सेमेस्टर जबकि तृतीय स्थान गाँधी के परिधान में बी०ए० तृतीय वर्ष की छात्रा कु० ज्योति को मिला। इसके अतिरिक्त लोक व्यंजन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हर्षिता शर्मा एम०ए० गृहविज्ञान, द्वितीय स्थान बी०ए०तृतीय सेमेस्टर कु० अंजनी तथा तृतीय स्थान एम०ए० गृहविज्ञान की प्रज्ञा लोधी को मिला। लोकगीत प्रतियोगिता में प्रथम स्थान लकी बी०ए० तृतीय द्वितीय स्थान शिवानी राणा बी०ए० द्वितीय, तृतीय स्थान वंदना एम०ए० प्रथम वर्ष हिन्दी को मिला।

आजकी प्रतियोगिताओं में गीत प्रतियोगिता डॉ० मधु, लोक नृत्य प्रतियोगिता डॉ० रेनू सिंह, लोक परिधान प्रतियोगिता अमृता सिंह एवं लोक व्यंजन प्रतियोगिता अतिमा भारद्वाज के सफल निर्देशन में आयोजित हुई। आज हुई प्रतियोगिताओं के निर्णायक मण्डल में डॉ०लीना चौहान, डॉ० नगमा यासमीन, डॉ० सुषमा यादव, डॉ० रंजना सिंह, डॉ० मंजु वर्मा, डॉ० मधु, डॉ० अनुपम भारद्वाज, डॉ० शशि कुमारी अतिमा भारद्वाज, अमृता सिंह व रंजना प्रकाश रहीं। अंत में कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं प्राचार्या जी द्वारा अपने उदबोधन में बापू जी के अहिंसा के सूत्र तथा शास्त्री जी की शालीनता तथा जय जवान जय किसान के नारे के विषय पर विस्तृत प्रकाश डाला गया। आज हुए कार्यक्रम का सफल संचालन कु० प्रियंका सरोज असिस्टेंट प्रोफेसर हिंदी विभाग द्वारा किया गया। इस अवसर पर समस्त प्राध्यापिकाएं, शिक्षणेत्तर कर्मचारी एवं छात्राएं उपस्थित रहीं।