हाथरस 02 अक्टूबर | आजादी के अमृत महोत्सव की श्रंखला में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय के अलीगढ रोड स्थित आनन्दपुरी कालोनी केन्द्र द्वारा तहसील सदर के सभागार में गाँधी जी एवं शास्त्री जी की जयन्ती पर मेरा भारत व्यसन मुक्त भारत अभियान के अन्तर्गत आयोजन किया गया। सर्वप्रथम महात्मा गाँधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के छवि चित्र पर तहसीलदार सदर सुशील कुमार की अगुवाई में उपस्थित कर्मचारियों नें माल्यार्पण करके शृद्धासुमन अर्पित किये तथा गाँधी जी के प्रिय भजन वैश्णव जन तो तैने कहिए तथा रामधुन गाई गई। तदुपरान्त बी0के0 दिनेश भाई द्वारा वीडियो फिल्म के माध्यम से तम्बाकू के दुश्प्रभावों को दर्शाया गया। वक्तव्य के माध्यम से बताया गया कि बड़ों को देखकर बचपन में गाँधी जी ने भी बीड़ी पीना आरम्भ किया था लेकिन अपनी माँ से सत्य बोलने के बाद वे सदा के लिए इससे मुक्त हो गये। सुपरस्टार अमिताभ बच्चन जिन्होंने शराबी आदि फिल्मों में शराबी का राॅल तो किया लेकिन वे किस प्रकार से शराब से हमेशा के लिए मुक्त हो गये | यह एक अन्य वीडियो फिल्म के माध्यम से प्रोजेक्टर द्वारा दर्शाया गया।

आनन्दपुरी कालोनी केन्द्र प्रभारी बी0के0 शांता बहिन ने कहा कि गाँधी जी रामराज्य चाहते थे लेकिन भ्रश्टाचार, पापाचार, अत्याचार के रावण घर-घर में उपस्थित हैं। उन्होंने सभी धर्म आत्माओं के परमपिता परमात्मा सत्य राम, सत्यम शिवम सुन्दरम के परिचय से भी सभी को अवगत कराया और बताया कि आत्मिक नाते से एक परमात्मा की सन्तान होने से हम सब आपस में भाई-भाई हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे तहसीलदार सदर सुशील कुमार ने विशद चर्चा करते हुए कहा कि गाँधी जी ने न केवल नशाबंदी लेकिन सत्य और अहिंसा को अंग्रेजों के खिलाफ अपना हथियार बनाया। उन्होंने शारीरिक ताकत द्वारा विरोध न करके वैचारिक उपायों पर जोर दिया। इस अवसर पर बी0के0 मोनिका बहिन, बी0के0 गजेन्द्र सहित तहसील के अन्य अधिकारी, कर्मचारी व लेखपाल उपस्थित थे।