नई दिल्‍ली: सोचिए, आपके पास कॉल आए और आपका वॉट्सऐप हैक हो जाए। वो भी तब, जब न तो आप ने ओटीपी शेयर किया हो, न कोई लिंक क्लिक किया हो और न ही कोई डिटेल साझा की हो। जी हां, साइबर शातिरों की इस नई हैकिंग ट्रिक का शिकार हुई दिल्ली के नामी स्कूल की टीचर। बस, कुछ सेकंड बात की और उनका वॉट्सऐप हैक कर लिया गया। शिकायत मिलने के बाद साइबर सेल ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पीड़ित नेहा चावला ने बताया कि वह परिवार समेत रोहिणी सेक्टर 15 में रहती हैं। घर में पति, दो बच्चे और सास-ससुर हैं। वह दिल्ली के ही एक नामी स्कूल में टीचर हैं। उनके अनुसार 14 सितंबर की सुबह रोज की तरह वह स्कूल गईं। दोपहर करीब 2 बजे स्कूल से घर के लिए निकल रही थीं। उस दिन कार नहीं ले गई थीं। इसलिए ओला ऑटो बुक कर घर जाने लगीं। आधे रास्ते में एक अनजान नंबर से कॉल आई।

इंटरनेट के बारे में पूछा इसलिए शक नहीं हुआ

कॉलर ने खुद को जीओ की ब्रॉडबैंड सर्विस प्रोवाइडर से बताते हुए पूछा कि मैम, आपके घर इंटरनेट ठीक करने आए थे, क्या अब इंटरनेट की स्पीड सही आ रही है? चूंकि तीन चार दिन पहले घर के वाईफाई में दिक्कत थी। स्पीड भी कम थी। इसके लिए पति ने कंप्लेंट रजिस्टर्ड की हुई थी। ठीक करने दो लोग आए थे और स्पीड ठीक करके चले गए। लिहाजा उन्हें को कॉल पर कोई शक नहीं हुआ और उन्होंने कहा कि हां अब ठीक चल रहा है।

कॉलर ने कहा कि फीडबैक के लिए आपके पास कॉल आएगा। कृपया रिसीव करके सर्विस का फीडबैक बता दीजिएगा। नेहा ने कहा कि आप अभी फीडबैक ले लो। इतना कहते ही फोन डिस्कनेक्ट हो गया। इसके बाद उन्होंने अपने घर फोन किया, लेकिन कॉल नहीं लगी। मेसेज मिला कि आपका रिचार्ज खत्म हो गया है। उन्होंने वॉट्सऐप कॉल किया, तो मेसेज डिस्प्ले हुआ कि यह नंबर दूसरी डिवाइस पर डायवर्ट है।

ऐसे हैक हो गया वॉट्सऐप
यहीं से नेहा को शक हुआ। फटाफट घर पहुंचकर अपने ससुर के फोन से पति और स्कूल की इंचार्ज को यह बताने के लिए फोन किया कि नंबर नहीं चल रहा है। लेकिन इंचार्ज ने बताया कि उनके (नेहा) वॉट्सऐप से मेसेज आया हुआ है कि ‘अर्जेंट अधिक से अधिक पैसों की जरूरत है और शाम तक रिटर्न कर दूंगी’। जब तक स्कूल इंचार्ज स्कूल स्टाफ और पैरेंट्स के वॉट्सऐप ग्रुप में हैकिंग के बारे में बता पातीं। तब तक एक टीचर ने नेहा को मुसीबत में समझकर 50 हजार रुपये ट्रांसफर भी कर दिए। दूसरी तरफ से और पैसों की डिमांड हुई तो उस टीचर ने नेहा के पति को कॉल करके पूछा कि क्या दिक्कत आई है। तब उन्हें मालूम चला कि उनका वॉट्सऐप हैक हुआ है। पति ने तुरंत सिम ब्लॉक कराके सभी अकाउंट्स बंद किए। जानकारों को हैकिंग की सूचना दी। मामले में रोहिणी जिले के साइबर थाने में कंप्लेंट दी। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।