सिकंदराराऊ (हसायन) 11 सितम्बर | विकासखंड क्षेत्र की सिकन्द्राराऊ कोतवाली क्षेत्र के गांव बसई में तीन महीने पहले एक व्यक्ति के घर में नकबजनी कर अज्ञात चोरों के द्वारा लाखों रूपए की सोने चांदी के आभूषण व नकदी चोरी की घटना का आज तक कोतवाली सिकन्द्राराऊ पुलिस के द्वारा खुलासा नहीं कर पाने व घटना के बाद पूछताछ के लिए हिरासत में लिए गए युवकों को छोड दिए जाने के बाद पुलिस की सुस्त कार्यवाही को लेकर पीड़ित परिवार ने सीएम, डीजीपी, डीएम, मंडलायुक्त को लिखित शिकायत पत्र देते हुए कोतवाली में तैनात एक उपनिरीक्षक पर नामजदों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नही किए जाने को लेकर आक्रोश जताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,मंडलायुक्त, डीएम व डीजीपी से शिकायत करते हुए कहा कि बारह सितंबर तक चोरी की घटना का खुलासा नहीं किया गया तो पीड़ित परिवार मुख्यालय पर पहुंचकर धरना देकर आत्महत्या करने के लिए विवश हो जाएगा।दिलीप कुमार पुत्र नोकपाल सिंह निवासी बसई ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा डीजीपी, मंडलायुक्त व डीएम के नाम दिए गए शिकायती पत्र में कहा कि चार जुलाई 2022 को प्रार्थी के घर में चोरी हो गई। शिकायती पत्रो में कहा गया है कि प्रार्थी का घर पीछे होने के कारण चोरों के द्वारा मकान में कूमल लगाकर चोरी की घटना को अंजाम दिया गया।दिलीप कुमार ने शिकायती पत्र में अवगत कराते हुए कहा कि घर में चोरी के दौरान चोर एक लाख पचास हजार रुपए की नगदी व पुत्री की शादी के लिए घर में रखे हुए सोने चांदी के आभूषण भी चोरी कर ले गए।
इस तरह चोरी की घटना की रिपोर्ट अज्ञात लोगों के खिलाफ कोतवाली सिकन्द्राराऊ में दर्ज कराई गई।दिलीप कुमार ने शिकायती पत्र में मुख्यमंत्री व उच्च स्तरीय अधिकारियों को अवगत कराते हुए कहा कि चोरी की घटना को इतना समय व्यतीत होने के बाद भी कोतवाली पुलिस आज तक घटना का कोई खुलासा नहीं कर पाई। उन्होंने शिकायती पत्र में कहा कि प्रार्थी व गांव के अन्य व्यक्तियों के द्वारा चोरी की घटना की जांच पड़ताल के बाद कोतवाली में तैनात उपनिरीक्षक प्रमोद कुमार के पास घटना को अंजाम देने वाले युवकों के नाम अवगत कराते हुए रिपोर्ट दर्ज कराए जाने की मांग की। तो उपनिरीक्षक प्रमोद कुमार ने चोरी की घटना में नामजदों के नाम बढाने से इंकार करते हुए नामजद युवकों से तथाकथित सांठगांठ कर पूछताछ के नाम पर युवकों को पकडकर खानापूर्ति करते हुए छोड दिया। दिलीप कुमार ने मुख्यमंत्री व उच्चाधिकारियों को अवगत कराते हुए कहा कि उपनिरीक्षक के द्वारा आज तक घटना का खुलासा नहीं किया है। जबकि पीड़ित चोरी की घटना के खुलासा कराए जाने को लेकर कोतवाली के चक्कर लगाकर थक चुका है।पीड़ित दिलीप कुमार ने कहा कि अगर बारह सिंतबर तक चोरी की घटना का खुलासा नहीं हुआ तो वह मुख्यालय पर परिवार सहित आत्महत्या के लिए विवश हो जाएगा।