वृंदावन 10 सितम्बर | आजादी के 75 वर्ष के उपरांत पुलिस हिरासत में अत्याचार इत्यादि घटनाएं सभ्य समाज में शर्मसार करती हैं – जस्टिस एमएम कुमार, सदस्य-राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग, नई दिल्ली एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक ह्यूमन राइट्स के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन वार्ष्णेय, राष्ट्रीय प्रवक्ता देवेंद्र गोयल, जिलाध्यक्ष सौरभ सिंघल ने बताया कि एडीएचआर के राष्ट्रीय अधिवेशन मे मुख्य अतिथि न्यायमूर्ति एमएम कुमार सदस्य राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने वर्चुअली संबोधन करते हुए एडीएचआर के राष्ट्रीय अधिवेशन की शुभकामनाएं दी अपने उदबोधन में मानव अधिकारों की सार्वभौमिक घोषणा पत्र से लेकर भारतीय संविधान मानव अधिकार से संबंधित विधि के प्रावधानों का उल्लेख कर आह्वान किया कि इन प्रावधानों से मानव अधिकार संरक्षण व संवर्धन का कार्य किया जा सकता है | मानवाधिकार कार्यकर्ता योगेश दुबे का नाम प्रमुखता से लिया विद्यार्थियों की भूमिका का विशेष उल्लेख किया | विशिष्ट अतिथि अनिल कुमार पाराशर पूर्व ज्वाइंट रजिस्टार एनएचआरसी ने कहा कि आयोग अपना कार्य कर रहा है | मानव अधिकार के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं, एनजीओ अपनी रिपोर्ट बनाकर एनएचआरसी के सम्मिट कर बेहतर कार्य कर सकते हैं | विशिष्ट अतिथि ओम प्रकाश व्यास पूर्व ज्वाइंट रजिस्टार एनएचआरसी ने कहा कि मानव अधिकार कार्यकर्ता अपने आप को समर्पित कर कार्य करें, अपने कर्तव्य का निर्वहन करें, मानव अधिकार कर की अलख जगाये |

विशिष्ट अतिथि डॉ लक्ष्मी गौतम ने कहा कि विधवा शब्द संविधान व आम बोलचाल की भाषा से खत्म होना चाहिए | यह शब्द हमारे मानवाधिकारों का खुला उल्लंघन है, हमें आजादी मिलनी चाहिए | अध्यक्षता करते हुए एडीएचआर राष्ट्रीय अध्यक्ष सुधीर अग्रवाल ने कहा कि हमें प्रत्येक कार्य की शुरुआत अपने आप से करनी चाहिए | एडीएचआर महिला प्रकोष्ठ डॉ सरोज व्यास ने कहा कि एडीएचआर द्वारा 30 दिनों के मानव अधिकार कोर्स प्रारंभ किया जाएगा, जिससे छात्र छात्राओं के मानव अधिकार की जानकारी प्राप्त हो सके |  अधिवेशन की रूपरेखा राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन वार्ष्णेय ने रखी एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता देवेंद्र गोयल ने अतिथियों का परिचय रखा | अधिवेशन का शुभारंभ बांके बिहारी के छवि चित्र पर माल्यार्पण व सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया | मथुरा जिला इकाई ने सभी अतिथियों का माला पहनाकर व टीका लगाकर स्वागत किया | अधिवेशन में मोहनलाल अग्रवाल, सत्यनारायण वार्ष्णेय, विकास जैन पटवा, डॉ आरके उपाध्याय, हिमांशु बिरला, पंकज चोपड़ा, डॉ नवनीत कुमार वार्ष्णेय, हाथरस से एडवोकेट नूपुर पोद्दार, शैलेंद्र सांवलिया, दीपेश अग्रवाल सर्राफ, राजेश वार्ष्णेय, अमन बंसल, भानु प्रकाश, शुभम जैन सीए ,बाल प्रकाश, वर्षा वार्ष्णेय, कविता गोयल व नीरू अग्रवाल आदि भारतवर्ष के एडीएचआर कार्यकर्ता उपस्थित रहे |