हाथरस 06 सितम्बर | पिछले 6 दिनों से लापता दवा कारोबारी कन्हैयालाल वार्ष्णेय (बजरंग मेडिकल) को सदर कोतवाली पुलिस व एसओजी टीम ने गंगा जी घाट बृजघाट जनपद हापुड़ से सकुशल बरामद कर लिया है | इस हाई प्रोफाइल केस को लेकर पुलिस पर लापता दवा कारोबारी को ढूंढने का दबाव था | लापता व्यापारी के सकुशल मिलने से पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली है | परिजनों के अनुसार लापता दवा कारोबारी कन्हैयालाल वार्ष्णेय से उनका आपत्तिजनक वीडियो क्लिप बनाकर तीन आरोपियों ने 70 लाख रूपए की चौथ वसूली कर चुके हैं | कोतवाली पुलिस ने उक्त मामले में 3 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया, जिसमें दो लोगों की पुलिस तलाश कर रही है जबकि एक आरोपी को जेल भेज चुकी है |

मिली जानकारी के अनुसार हाथरस सदर कोतवाली पुलिस को दिनांक एक सितम्बर को सूचना दी गयी कि भुवनेश्वर वार्ष्णेय उर्फ कन्हैयालाल वार्ष्णेय (उम्र करीब 42 वर्ष) निवासी विजयनगर गली नं. 4 मुरसान गेट थाना कोतवाली हाथस रोजाना की तरह घर से इगलास रोड स्थित बालाजी गौशाला के लिए निकले थे, उसके बाद से उनका कुछ पता नही चला है । सूचना के आधार पर थाना कोतवाली हाथरस पर गुमशुदगी दर्ज की गयी थी । जिसके उपरान्त दिनांक 4 सितंबर को समय करीब 2:22 बजे थाना कोतवाली क्षेत्र के विजयनगर गली नं0-04 मुरसान गेट निवासी एक व्यक्ति रामेश्वर वार्ष्णेय द्वारा थाना कोतवाली हाथरस पर तहरीरी सूचना दी गई कि दिनांक- एक सितम्बर को उनका छोटा भाई भुवनेश्वर वार्ष्णेय उर्फ कन्हैयालाल वार्ष्णेय (उम्र करीब 42 वर्ष) इगलास रोड स्थित बालाजी गौशाला के लिए निकले थे। तलाश करने पर इग्लास स्थित गौशाला पर उनके दोनों मोबाइल मिले है तथा स्कूटी दीनबन्धू हॉस्पीटल आगरा रोड के बाहर खडी मिली है । तथा कुछ लोगो द्वारा पूर्व में उनका आपत्तिजनक वीडियो क्लिप बनाकर काफी लम्बे समय से ओमप्रकाश, बिट्टू व राजू उर्फ पतरा द्वारा समाज का भय दिखाकर गुमशुदा व्यक्ति से चौथ वसूली की जा रही थी तथा गुमशुदा भुवनेश्वर उर्फ कन्हैया वार्ष्णेय द्वारा अपने निकटस्थ मित्र के नम्बर पर मैसेज भी भेजा गया था जिसमे उनके द्वारा कुछ लोगो से तंग आकर समाधि लेने की बात लिखी गयी है । साथ ही गौशाला में एक नोट बुक भी प्राप्त हुआ है जिसमें गुमशुदा भुवनेश्वर उर्फ कन्हैया वार्ष्णेय द्वारा उक्त लोगो द्वारा पीडा पहुँचाने का उल्लेख किया गया है। घटना के सम्बन्ध में वादी की प्राप्त लिखित तहरीर के आधार पर थाना कोतवाली हाथरस पर सुसंगत धाराओ में अभियोग पंजीकृत किया गया ।

घटना को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा दवा कारोबारी की सकुशल बरामदगी एवं अभियुक्तो की गिरफ्तारी हेतु क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में टीमों का गठन किया गया एवं एसओजी टीम व सर्विलॉस टीम को भी लगाया गया था । पुलिस टीम द्वारा लगातार परिजनो से सम्पर्क स्थापित कर परिजनो से व अन्य निकटस्थ लोगो से लाभप्रद सूचना एकत्र करते हुये उपरोक्त गुमशुदा व्यक्ति की लगातार तलाश की जा रही थी । जिसके क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक हाथरस के निर्देशन में व क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा आसपास के विभिन्न जनपदो व अन्य सम्भावित स्थान गुडगांव,नोएडा,दिल्ली आदि स्थानो पर लगातार तलाश की जा रही थी तथा कोतवाली नगर पुलिस द्वारा भुवनेश्वर वार्ष्णेय उपरोक्त की तलाश हेतु विभिन्न बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, आसपास के सम्भावित स्थानों पर गुमशुदा की फोटो चस्पा की गई तथा अन्य जनपदों के थानों में भी फोन द्वारा अवगत कराया गया तथा विभिन्न व्हाट्सएप्प ग्रुप में गुमशुदा की फोटो प्रसारित कर खोजने का प्रयास किया गया । जिसके क्रम में प्राप्त लाभप्रद अभिसूचनाओ के आधार पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हाथरस, एसओजी प्रभारी व टीम द्वारा गुमशुदा भुवनेश्वर वार्ष्णेय उर्फ कन्हैयालाल वार्ष्णेय को गंगाजी बृजघाट जनपद हापुड से सकुशल बरामद कर लिया गया है । अब तक की प्राथमिक पूछताछ पर बरामद भुवनेश्वर वार्ष्णेय उर्फ कन्हैयालाल द्वारा बताया गया है कि ओमप्रकाश, बिट्टू व राजू उर्फ पतरा द्वारा आपत्तिजनक वीडियों बनाकर समाज में भय दिखाकर ब्लैकमैल कर काफी रुपये ले चुके थे तथा लगातार और अधिक रुपयो हेतु ब्लैकमैल कर रहे थे । जिससे तंग आकर भुवनेश्वर वार्ष्णेय उर्फ कन्हैयालाल खुद चले गये थे , जिनको सकुशल बरामद कर परिजनो के सुपुर्द कर दिया गया है । अभियोग में साक्ष्यो के क्रम में कार्यवाही करते हुये अभियोग में नामजद राजू उर्फ पतरा को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है ।