सिकंदराराऊ (हसायन) 02 सितम्बर | कस्बा के विद्युत उपकेन्द्र 33/11के लिए नगला रति विद्युत उपकेन्द्र 132केवी से आ रही तैतीस हजार केवीए की जर्जर हो चुकी विद्युत लाइन पर गांव टौड, नगला अडू गांव की आपूर्ति जोड दिए जाने के बाद से उपभोक्ताओं की मुसीबत कम होने के बजाय बढती जा रही है। पिछले चार दिनों से विद्युत आपूर्ति प्रभावित होने के बाद भी गुरूवार को पूरे दिन से लेकर देर रात तक लुका छिपी का खेल चलता रहा। गुरूवार की देर रात को बारह बजकर पन्द्रह मिनट पर थर्टी थ्री टू फेस होने के दौरान विद्युत आपूर्ति उपकेन्द्र के टीपीएम के अलावा पांच एमबीए के परावर्तक व बीसीबी इनकमिंग तक नही आने के दौरान कस्बा व देहात क्षेत्र के पांच गांवों से जुड़े साठ से ज्यादा गांव के उपभोक्ताओं के अलावा महिला पुरूष व बच्चों को गर्मी के मौसम में मच्छरों का प्रकोप सहने के साथ पूरी रात इधर से उधर जागते हुए रात काटी। गुरूवार की देर रात सवा बारह बजे टू फेस हुई आपूर्ति के बाद भी शुक्रवार की अल सुबह तीन बजे के करीब जब मीडिया कर्मी उपकेन्द्र हसायन पर पहुंचे तो उपकेन्द्र पर तैनात एसएसओ व एक अन्य सहयोगी स्टाफ किवाड़ बंद कर पंखा चलाकर आराम फरमाते हुए दिखाई दिए। इस दौरान एसएसओ ने बताया कि जब बीसीबी इनकमिंग तक आपूर्ति ही नहीं आ रही तो बीसीबी से आउट गोइंग आपूर्ति कैसे दी जाएगी। इस दौरान उपभोक्ताओं ने कस्बा के उपकेन्द्र पर तैनात लाइनमैन व जेई के अलावा उपखंड अधिकारी के फोन पर सम्पर्क किया गया। तो उनके फोन ही नाॅट कबरेज एरिया बता रहे थे।शुक्रवार को साढे सात बजे विद्युत आपूर्ति मिलने पर उपभोक्ताओं ने जरूरी कार्य निपटाते हुए दिखाई दिए।