हाथरस 5 अगस्त । आगामी त्यौहार व मोहर्रम के दृष्टिगत निकलने वाली आलम व ताजिया दिनांक 6 से 9 अगस्त तक के संबंध में जिलाधिकारी रमेश रंजन ने कलेक्ट्रेट सभागार में सुपर जोनल मजिस्ट्रेट व सहायक सुपर जोनल मजिस्ट्रेट व जोनल मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर कानून एवं शांति व्यवस्था को सुदृण बनाये रखने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि बैठक का मुख्य उददेश्य आगामी मोहर्रम के दौरान जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था को कायम रखना है। जिलाधिकारी ने मोहर्रम पर जनपद में शांति एवं कानून व्यवस्था को सुदृढ बनाये रखने हेतु अधिकारियों को विशेष सतर्कता बरतने के सख्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन लोगों की ड्यूटी लगाई गई है वह अपने निर्धारित स्थल पर तैनात रहेगें यदि किसी प्रकार की समस्या है तो उसके संबंध में अपने उच्चाधिकारियों को अवश्य अवगत करायें। जुलूस निकलने के दौरान प्रशासनिक व पुलिस बल जुलूस में आगे, मध्य व पीछे उपस्थित रहें। समस्त उप जिलाधिकरी व सीओ व थाना अध्यक्ष सुनिश्चत करेंगे कि ताजिये के जुलूस में किसी भी प्रकार का अस्त्र-शस्त्र प्रदर्शन न किया जाये और न ही जुलूस में अस्त्र-शस्त्र लेकर चला जाये यदि ऐसा कोई मामला संज्ञान में आता है तो तत्काल उच्चाधिकारियों को अवगत करायें और आवश्यकता पड़ने पर संबंधित के विरूद्व कार्यवाही करने के निर्देश दिए। समस्त उप जिला मजिस्ट्रेट व पुलिस क्षेत्राधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि मौहर्रम पर्व पर निकलने वाले ताजियादारों के जुलूस में उन्ही ताजियेदारों को जुलूस निकालने की अनुमति दी जाये जिनके विरूद्ध थाने पर पूर्व में कोई मुकद्दमा पंजीकृत न हुआ हो। समस्त उप जिला मजिस्ट्रेट व पुलिस क्षेत्राधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि ताजिये का जुलूस निकालने की अनुमति इस शर्त पर दी जाये कि ताजिये की लम्बाई मानक के अनुरूप हो यदि अधिक होने की आशंका हो तो अनुमति न दी जाये। समस्त उप जिला मजिस्ट्रेट व पुलिस क्षेत्राधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि ताजिये निकलने वाले रूट, समय, व जुलूस में इकट्ठा भीड की संख्या को अनुमति प्रदान करने से पूर्व जान लिया जाये कि ताजिया निकालने में किसी अन्य धर्म विशेष को परेशानी न हो। उन्होंने समस्त मजिस्ट्रेटों को निर्देश दिए कि ताजिये के जुलूस समाप्त होने तक ड्यूटी स्थल पर तैनात रहेंगे व ड्यूटी स्थल छोडने से पहले उच्चाधिकरियों को सूचित करेंगे। उक्त अवधि में विशेष सतर्कता बरतते हुए शान्ति एवं कानून व्यवस्था सुदृढ़ बनाये रखने हेतु जुलूस व ताजियों को निकलवाया जाना सुनिश्चित करेें। उन्होंने कहा कि उक्त ड्यूटी में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता अक्षम्य होगी। उन्होंने सभी एसडीएम, सीओ तथा एसओ को निर्देश दिए कि मोहर्रम में ताजिया ले जाने के मार्गो का भ्रमण कर यथा स्थिति का जायजा ले लें। निरीक्षण के दौरान मार्ग में विघुत के लटके हुए तार तथा अन्य चीजों पर विशेष रूप से ध्यान दे। यदि कहीं पर किसी प्रकार की समस्या है तो उसे तत्काल ठीक करा ले। जिससे जुलूस के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पडे। उन्होंने अधिशासी अभियन्ता विद्युत को सादाबाद क्षेत्र में विद्युत के जर्जर व लटके तारों के ठीक कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा की जहां पर वि़द्युत के तार नीचे लटके हुयंें है वहा पर सम्बन्धित एसडीओ से मिलकर ठीक करा ले। मोहर्रम का त्योहार परंपरागत तरीके से मनाया जाएगा। किसी भी प्रकार की कोई नई परंपरा की शुरुआत नहीं की जायेगी। उन्होने कहा कि बिना अनुमति के ताजिया/जुलूस किसी भी दशा में नहीं निकाला जायेगा। सुनिश्चित करें कि निर्धारित समय से ताजिया निकाले।
पुलिस अधीक्षक देवेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि जुलूस जिन मार्गों को क्रास करेगा उन स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया जायेगा। जिससे कि यातायाता बाधित न हो, ड्रोन के माध्यम से जुलूस के मार्गों पर निगरानी रखी जायेगी। उन्होंने समस्त सीओ को तैनात पुलिस बल के साथ बैठक करने व शासन द्वारा जारी गाइडलाईन के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करने के निर्देश दिए। सुनिश्चित करें कि कोई भी ताजिया सड़क पर नहीं रखा जायेगा। उन्होंने कहा कि ताजिया से संबंधित किसी भी प्रकार का बैनर, पोस्टर, पम्पलेट आदि नहीं लगाये जायेगें। उन्होंने समस्त थाना प्रभारियों को शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों में सुअर पालकों को जुलूस निकलने के समय के बारे जानकारी देते हुए नोटिस जारी करें कि किसी भी दशा में सुअर अपने बाड़ों से बाहर नहीं आने चाहिये। जिन पुलिस कर्मियों की कावड़ यात्रा में ड्यूटी लगाई है वह यथावत बनी रहेगी। कानून व्यवस्था प्रभावित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करें। किसी प्रकार की नई परंपरा शुरू नहीं होनी चाहिए। ’उन्होंने कहा कि इंटरनेट मीडिया पर विशेष निगरानी रखी जाए। किसी व्यक्ति विशेष या फिर समुदाय के लिए अभद्र टिप्पणी की जाती है तो उसे तत्काल संज्ञान में लेकर उच्चाधिकारियों को अवगत कराएं, जिससे समयबद्ध ढंग से कार्यवाही, की जाए सकें। उन्होने कहा कि लोग फेसबुक, ट्वीटर, वाट्सएप इत्यादि के माध्यम से किसी धर्म विशेष के प्रति अफवाह न फैलाएं। कोई ऐसी हरकत करेगा तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी। आपत्ति जनक गानों/खबरों का प्रसारण नहीं होना चाहिए। सभी समितियां अपने-अपने वालेंटियर्स तैयार कर तैनात करें। डीजे की आवाज सीमित होनी चाहिए। कांवड़ यात्रा और ताजियों के जुलूस के दौरान कोई वाद विवाद की स्थिति न बने इसलिए ऐसा कोई काम नहीं करें, जिससे दूसरे संप्रदाय के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचे। बैठक के दौरान अपर जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी न्यायिक, उप जिलाधिकारी सादाबाद, हाथरस ,सासनी व सिकंदराराऊ, प्रभारी अधिकारी कलेक्ट्रेट, जिला विकास अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, समस्त सीओ, सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, सहायक सुपर जोनल मजिस्ट्रेट व जोनल मजिस्ट्रेट आदि उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here