हाथरस 5 अगस्त | केंद्र सरकार ने इलेक्ट्रिसिटी अमेंडमेंट बिल 2022 का मसौदा जारी कर दिया है। यह जानकारी मिली है कि केंद्र सरकार सोमवार 8 अगस्त को लोकसभा में इलेक्ट्रिसिटी अमेंडमेंट बिल 2022 रख रही है।
विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति उत्तर प्रदेश ने देश के तमाम बिजली कर्मचारियों के साथ इलेक्ट्रिसिटी अमेंडमेंट बिल 2022 के विरोध में निर्णायक संघर्ष का फैसला लिया है। संघर्ष समिति द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार संसद के किसी भी सदन में जिस दिन भी यह बिल रखा जाएगा उसी समय सभी ऊर्जा निगमों के तमाम कर्मचारी और अभियंता काम छोड़ देंगे और कार्यस्थल के बाहर आकर दिनभर विरोध प्रदर्शन करेंगे। संघर्ष समिति के निर्णय के अनुसार 8 अगस्त सोमवार को सभी कर्मचारियों व अभियंताओं से अपील है कि वे राजधानी लखनऊ सहित सभी परियोजनाओं व जनपदों में अधिकतम संख्या में एक स्थान पर 12 बजे एकत्र रहें और जैसे ही यह सूचना मिलती है कि संसद में बिल रख दिया गया है उसी समय बाकी सभी कर्मचारी भी अपना कार्यस्थल छोड़कर बाहर आ जाए। इस बिल के जरिए केंद्र सरकार संपूर्ण ऊर्जा क्षेत्र का निजीकरण करने जा रही है। यह निर्णायक संघर्ष का समय है। अभी नहीं तो कभी नहीं। अपनी एकता का प्रदर्शन करें और सम्मिलित हों। यह जानकारी बिजली कर्मचारी संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष राजा बाबू सारस्वत ने दी |

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here