सिकंदराराऊ (हसायन) 26 जुलाई । शासन के मुखिया योगी आदित्यनाथ व जिला प्रशासन के मुखिया रमेश रंजन के संयुक्त आदेश पर झोलाछाप चिकित्सकों व अवैध रूप से संचालित हो रहे नर्सिंग होम पर छापेमारी कर कार्यवाही किए जाने के आदेश के बाद जिला प्रशासन की टीम में ओसी कलेक्ट्रेट एसडीएम वेद सिंह चौहान ने कस्बा के मोहल्ला अहीरान स्थिति माता पथवारी के मंदिर के निकट आयुर्वेद पद्धति से उपचार के नाम पर पंजीकरण होने के दौरान एलोपैथी विधि से मरीजों का गलत तरीके से उपचार किए जाने के दौरान ओसी कलेक्ट्रेट एसडीएम वेद सिंह चौहान ने उक्त अवैध रूप से संचालित हो रहे नर्सिंग होम को चिकित्सक फार्मासिस्ट व अन्य चिकित्सा पद्धति से संबंधित डिग्री व प्रमाणपत्र नहीं होने पर सीज कर दिया। ओसी कलेक्ट्रेट एसडीएम वेद सिंह चौहान के छापेमारी किए जाने के दौरान कस्बा के तमाम झोलाछाप चिकित्सक व अवैध रूप से संचालित हो रही पैथोलॉजी लैब संचालक अपने अपने प्रतिष्ठान बंद कर फरार हो गए। हालांकि ओसी कलेक्ट्रेट एसडीएम वेद सिंह चौहान ने शिव शक्ति हास्पिटल पर छापेमारी के दौरान शिव शक्ति हास्पिटल का अवैध रूप संचालन कर रहे दो युवक व एक अन्य युवती से चिकित्सा संबंधी डिग्री व प्रमाण पत्र दिखाए जाने की जानकारी की तो संचालक ओसी कलेक्ट्रेट एसडीएम वेद सिंह चौहान को कोई साक्ष्य उपलब्ध नही करा सके। एसडीएम ओसी कलेक्ट्रेट वेद सिंह चौहान ने शिव शक्ति हास्पिटल की दीवार पर लिखे एक्सरे की सुविधा के अलावा डिलीवरी व विभिन्न तरह के आपरेशन का उल्लेख किए जाने के दौरान बेड व उपकरण मिलने पर शिवशक्ति हास्पिटल को सीज कर दिया।छापेमारी के दौरान ओसी कलेक्ट्रेट एसडीएम वेद सिंह चौहान ने बताया कि शिव शक्ति हास्पिटल के संचालक के द्वारा आयुर्वेदिक पद्धति की परमीशन के नाम पर गलत तरीके से बिना डिग्री व चिकित्सक के विभिन्न तरह के एलोपैथी विधि से उपचार कर रहा था।जब संचालक से मरीजों का उपचार किए जाने के बारे में स्वास्थ्य विभाग में पंजीकरण रजिस्ट्रेशन के अलावा डिग्री के बारे में जानकारी की तो संचालक कोई भी दस्तावेज साक्ष्य के तौर पर उपलब्ध नही करा सके।इसीलिए शिवशक्ति हास्पिटल को सीज कर दिया है।