हाथरस 09 जून | कलेक्ट्रेट सभागर में कृषि विभाग, स्वस्थ्य विभाग, पशुपालन विभाग तथा भूमि संरक्षण विभाग की समीक्षा बैठक करते हुए जिलाधिकारी रमेश रंजन ने विभागो द्वारा संचालित योजनायों में अपेक्षित सुधार लाने के निर्देश दिए।
कृषि विभाग द्वारा संचालित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना,किसान सम्मान निधि, खाद, बीज, कृषि यंत्र वितरण आदि की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने विभागीय योजनाओं में प्रगति लाने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि किसानो को विभिन्न स्टालमेंट में भुगतान हुआ है, उसकी स्थिति स्पष्ट की जाए एवं कृषकों की आने वाली समस्यों का तुरन्त निदान किया जाए। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि गत खरीफ में कितने कृषकों ने दावा प्रस्तुत किया के बारे में जानकारी की उप कृषि निदेशक ने बताया कि 81 कृषकों का खरीफ, 2020 में 3.98 लाख की क्षतिपूर्ति प्राप्त हुई है। प्रसार सुधार (आत्मा) योजना की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने जनपद के प्रगतिशील कृषकों को अन्य प्रदेशो में भ्रमण हेतु भेजने के निर्देश दिए। कृषि यंत्रीकरण योजना की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने जनपद के आवश्यकतानुसार कृषकों को कृषि यंत्र अनुदान पर उपलब्ध कराये कराने के निर्देश दिए। उप कृषि निदेशक ने बताया  कृषि यंत्रों की बुकिंग हेतु कृषि विभाग का पोर्टल खोल दिया गया है। कृषकों का 50 प्रतिशत अनुदान पर कृषि यंत्र प्राप्त करने हेतु आन लाइन टोकन प्राप्त करना होगा। खाद एवं बीज की उपलब्धता शतप्रतिशत कराने एवं खाद एवं बीज की दुकानों का लगातार निरीक्षण तथा कमी पाये जाने पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
इसके पश्चात आयुष्मान भारत योजनान्तर्गत संचालित प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी चंद्र मोहन चतुर्वेदी को सूची में दर्ज सभी पात्र लाभार्थियों के आयुष्मान गोल्डेन कार्ड बनाने के निर्देश दिए। आयुष्मान भारत तथा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत जनपद में कुल लाभार्थी परिवारों 70360, कुल लाभार्थी 3,51,800, जनपद में अब तक गोल्डन 103268 कार्ड गोल्डन कार्ड बनाने जाने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए आशा, आंगनबाडी को लगाते हुए निर्धारित लक्ष्य को पूर्ध करने के निर्देश दिए। गोल्डेन कार्ड के निमार्ण में जिस स्तर पर लापरवाही पायी जाये तो संबंधित की जिम्मेदारी तय करते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी रमेश रंजन ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को जनपद में संचालित गौशालयों की निरीक्षण करते हुए उनमें रखे गये पशुओं की सूची तौयार करने एवं गौशालयों में नियुक्त डाक्टरों की उपस्थित शतप्रतिशत सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को खुले में घूम रहे निराश्रित आवारा पशुओं को तत्काल पकड़वाने एवं गौशाला में संरक्षित करने के निर्देश दिए। पशुपालन विभाग द्वारा चलायी जा रही सहभागिता योजना में प्रगति संतोषजनक न होने पर आपेक्षित प्रगति लाने के निर्देश दिये। भूमि संरक्षण अधिकारी ने बताया की वर्षा जल संचयन एवं ग्राउन्ड वाटर रिचार्ज की योजना के तहत जनपद में 11 खेतों में तालाब खुदवाने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। खेतों में तालाब खुदवाने हेतु इच्छुक लाभार्थी भूमि संरक्षण अधिकारी कार्यालय में सम्पर्क कर सकते है। लक्ष्य के सपेक्ष प्रगति संतोषजनक न होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुऐ माह के अंतिम सप्ताह तक पूर्ण कराने के निर्देश दिए। मनरेगा योजनान्र्तगत समय से भूमि एवं जल संरक्षण कार्य कराने के निर्देश दिए साथ ही भूमि संरक्षण अधिकारी को मनरेगा योजनान्तर्गत जनपद में लगभग 75 तालाब खुदवाने के निर्देश दिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here