हाथरस 4 मई । कोविड-19 की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार से पांच दिवसीय अभियान चलाएगा। इसमें लोगों को कोविड-19 रूप के प्रति सजगता संभावित रोगियों की चिन्हीकरण तथा लक्षण युक्त व्यक्तियों की जांच एवं आवश्यकता अनुसार औषधि वितरण किया जाएगा। यह अभियान नौ मई तक चलेगा।

अभियान में जनपद के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर भ्रमण किया जाएगा। इसके लिए दलों का गठन करके माइक्रो प्लान तैयार कर लिया गया है। प्रत्येक टीम एक आशा के क्षेत्र को 5 दिनों में पूर्ण रूप से आच्छादित करेगी। प्रत्येक टीम को मास्क, ग्लव्स और सैनिटाइजर व प्रपत्र उपलब्ध कराए जाएंगे। पर्यवेक्षक टीम द्वारा किए गए कार्य की निगरानी करेगा और टीम को माइक्रो प्लान के अनुसार कार्य करके मास्क एवं ग्लव्स पहनकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कार्य करने के बारे में विस्तार से जानकारी देगा।  टीमें लक्षणयुक्त व्यक्तियों को सूचीबद्ध कर उनकी सूचना ब्लाक तथा जनपद मुख्यालय को प्रेषित करेंगी ।

यह टीमें घर घर जाकर कोविड-19  प्रोटोकॉल का पालन करते हुए निम्न गतिविधियां अपने-अपने क्षेत्र में संपादित करेंगी।
– कोविड-19 रोग से बचाव के उपाय, रोग के पुराने एवं नए लक्षण के विषय में जन सामान्य को जानकारी देंगे।
– निकटवर्ती जांच एवं उपचार केंद्र के विषय में जन सामान्य को जानकारी देंगे।
– लक्षण युक्त व्यक्तियों की पहचान कर सूचीबद्ध करते हुए जांच के लिए निकटतम जांच केंद्र पर भेजेंगे।
– ऐसे लक्षण युक्त व्यक्ति जिन्हें बुखार खांसी इत्यादि के साथ सांस फूलने जैसे लक्षण प्रकट हो रहे हैं परंतु जिन की अभी तक जांच नहीं हुई है और वह निकटवर्ती स्वास्थ्य केंद्र पर जाने में सक्षम भी नहीं है यथा अकेले रहने वाले वृद्ध व्यक्ति को औषधि उपलब्ध कराएंगे।
– यदि किसी घर में कोविड-19 धनात्मक व्यक्ति है तो उसे होम आइसोलेशन एवं संगरोध के विषय में जानकारी देनी होगी।
– टीम द्वारा सभी व्यक्तियों को राज्य एवं जनपद स्तर के हेल्पलाइन के बारे में अवगत कराया जाएगा।
– सभी परिवारों को कोविड-19 एप्रोप्रियेट बिहेवियर के बारे में पूरी तरह से जानकारी दी जाएगी।
– टीम अपनी गतिविधि की दैनिक रिपोर्ट तथा सूचीबद्ध किए गए लक्षण युक्त व्यक्तियों की सूची शाम 4:00 बजे तक अपने पर्यवेक्षक को उपलब्ध कराएंगे।
– लक्षण युक्त व्यक्तियों की सूचना ग्राम विकास अधिकारी तथा निगरानी समिति के साथ भी साझा की जाए ताकि इनके द्वारा भी लक्षण युक्त व्यक्तियों को जांच हेतु निकटतम जांच केंद्रों पर जाने हेतु प्रेरित किया जा सके।
जिला स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी सुचिका सहाय ने कहा कि लोग सामाजिक दूरी का पालन करें ,मास्क लगाए, अपने हाथों को बार बार साबुन और पानी से अच्छी तरह से धोएं ,साबुन पानी की व्यवस्था ना होने पर सैनिटाइजर का प्रयोग करें। कोरोना संबंधित किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर अपने आप को और लोगों से अलग कर ले तथा कल से शुरू होने वाले सर्वे में स्वास्थ्य कर्मियों से अपने स्वास्थ्य के संबंध में किसी भी सूचना को छुपाए नहीं ताकि लोगो को हर संभव सुविधा तथा जानकारी मिल पाए।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ बृजेश राठौर ने बताया कि जनपद में ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड लक्षण वाले लोगों की खोज का अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी लोग कोविड-19 से बचाव के प्रोटोकॉल का पालन करें। जबकि अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ संतोष कुमार ने बताया कि अभियान को लेकर तैयारी हो चुकी है। प्रशिक्षण कार्य भी किया जा चुका है।

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here