आगरा 02 अप्रैल | ताज नगरी में कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित होने वाले 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों को अब होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं दी जाएगी। वे घर पर रहकर इलाज नहीं करा सकेंगे । उनको अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। बुजुर्गों को नए स्ट्रेन से अधिक खतरा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित एक मरीज से चार-पांच लोगों के संक्रमित होने का खतरा है। इसकी चपेट में आने वाले बुजुर्गों मरीजों को जान का भी खतरा हो सकता है। इसी को देखते हुए 60 वर्ष से अधिक उम्र के मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की सुविधा बंद कर दी गई है। इनको अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। एसएन मेडिकल कॉलेज के कोविड हास्पिटल में अभी 120 बेड हैं। यदि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती है तो बाल रोग विभाग में बनाए गए 100 बेड के कोविड वार्ड को शुरू कर दिया जाएगा। अभी इस वार्ड में कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही हैं। कोरोना वैक्सीन के लिए ओपीडी में स्थान तय किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here