3 फरवरी । अपहरण की झूठी सूचना पर पुलिस कई घंटे तक चकरघिन्नी बनी रही। फोन नंबर को ट्रेस करने बाद अपरहरण की सूचना देने वाले व उसके दोस्त को एक गेस्ट हाउस से गिरफ्तार लिया और फिर उन दोनों का शांतिभंग में चालान किया गया।

विनोद पुत्र सौदान सिंह निवासी पदू का अपनी पत्नी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। जिसके बाद वह अपने दोस्त राजू के साथ शहर के शिल्पा गेस्ट हाउस में आकर रूक गया। इसी दौरान उसने अपनी पत्नी को फोन किया कि कुछ लोग उसे कार में डालकर अपहरण करके कहीं ले जा रहे हैं। उसने फोन पर चीखने-चिल्लाने का ड्रामा भी किया। मामला आधी रात का होने के कारण पुलिस इस बात की जानकार होते ही अलर्ट हो गई। कोतवाली हाथरस गेट पुलिस काफी देर तक इधर उधर भागती रही। लेकिन इसी बीच पुलिस ने उस फोन नंबर को ट्रेस किया, जिस नंबर से पत्नी के मोबाइल फोन पर फोन गया था। फोन नंबर के ट्रेस होते ही सारा मामला सामने आ गया। पुलिस शिल्पा गेस्ट हाउस पहुंची और विनोद व उसके दोस्त राजू को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार होने पर दोनों ने अपहरण का झूठा नाटक करने की बात को स्वीकार किया। जिसके बाद पुलिस ने उन दोनों का शांतिभंग में चालान किया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here