प्रधानमंत्री उज्जवला योजना : हाल ही के वर्षो में पूरा विश्व को कोरोना वाइरस जैसी महामारी से गुजरा है। भारत भी इस महामारी से अछूता नहीं रहा है। ऐसे कठिन समय में सरकार द्वारा शुरू की गयी कुछ कल्याणकारी योजनाएं लोगों को मदद पहुँचाने में काफी मददगार रही थी, सरकार द्वारा शरू की गयी इन योजनाओं का लाभ सीधे सीधे गरीबों तक पहुंचता है। उज्जवला योजना इन योजनाओं में से एक है। जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के गरीब परिवारों / बपीएल कार्ड धारक 18 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को एक सिलिंडर फ्री उपलब्ध करवाया जाता है। इसमें योजना के तहत 3200 रूपये का अनुदान गैस एजेंसी को दिया जाता है। जिसमे से 1600 रुपये केंद्र सरकार द्वारा और 1600 रुपये तेल कम्पनी द्वारा वहन किया जाता है। उज्जवला योजना द्वारा कोरोना काल में सरकार द्वारा तीन माह के लिए सिलिंडर फ्री कर दिया गया था। केंद्र सरकार 9 करोड़ से अधिक उज्जवला योजना के लाभार्थी के लिए ख़ुशख़बरी लेकर आयी है, क्यूंकि केंद्र सरकार उज्जवला योजना के 9 करोड़ से अधिक लाभार्थियों के लिए 200 रूपये प्रति सिलेंडर सब्सिडी देगी। यह सुविधा साल में केवल 12 बार ही दी जाएगी।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना शुरुआत कब हुई

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना 1 मई 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘स्वच्छ ईंधन बेहतर जीवन’ के नारे के साथ शुरू की गयी एक मत्वाकाँची योजनं है। जिसका उदेश्य भारतीय रसोईयों को धुआँ रहित बनाना है। सरकार द्वारा 2019 तक 5 करोड़ परिवारों तक प्रधानमंत्री उज्जवला योजना फ्री गैस कन्नेक्शन उपलब्ध कराना था। जिसमे गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोग मुख्य थे। उज्जवला योजना NDA सरकार की सबसे सफल योजनाओं में से एक है। सरकार द्वारा कोरोना काल में इस योजना के लाभार्थियों को तीन माह तक फ्री सिलिंडर उपलब्ध करवाया था।

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का उद्देश्य क्या है ?

पीएम उज्जवला योजना के लागू करने के पीछे सरकार के कहीं उद्देश्य है, जिनका विवरण निचे दिया गया है।

  • घर पर गैस के आने से साल में लाखों पेड़ों का कटान बच जायेगा।
  • महिला शसक्तीकरण को बढ़ावा मिलेगा।
  • रसोई को धुआँ मुफ्त बनाना।
  • खाना पकाने के लिए एक स्वच्छ ईंधन उपलब्ध करवाना।
  • जीवाश्म ईंधन का उपयोग कम करना। क्यूंकि इससे ग्रामीण इलाके में कहीं बीमारियों का खतरा बना रहता है।
  • ग्रामीण इलाके में प्रदुषण कम करना।

इस प्रकार से सरकार की एक योजना से कहीं सारे मकसद एक योजना से पुरे हो रहे है। यह योजना वर्तमान सरकार की सफल योजनाओ में से एक है।

PM UJJWALA YOJANA OVERVIEW 2022

योजना का नाम। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना।
शुरुआत। 01 मई 2016
किसने शुरू की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
कहाँ से शुरू हुआ। बलिया, उत्तर प्रदेश।
उदेश्य फ्री गैस कनेक्शन उपलब्ध कराना।
आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmuy.gov.in/index.aspx
उज्जवला योजना टोल फ्री नंबर 18002666696
लाभार्थी। 18 वर्ष से अधिक उम्र की भारतीय महिलाएं।
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में आवेदन कैसे करें ?प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2022 हेतु आवेदन करना चाहते है। उज्जवला योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन अथवा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आवेदन कर सकते हैं। सरकार द्वारा इसकी प्रक्रिया को बहुत ही आसान बनाया गया है। यदि आप योजना के लिए पात्र है, तो आप अपना ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन फॉर्म भरकर आसानी से आवेदन कर सकते है।

ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आप अपने नजदीकी जनसेवा केंद्र पर जाकर आवेदन कर सकते हैं | ऑफलाइन आवेदन के लिए आप आवेदन प्रारूप अपने नजदीकी गैस एजेंसी जाकर प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा हमने उज्जवला योजना फॉर्म पीडीऍफ़ नीच दी है। आप यहां से भी डाउनलोड कर सकते है। फार्म प्रिंट करके आप उसे भरकर गैस एजेंसी जाकर सभी आवश्यक दस्तावेज साथ जमा कर दें।

PMUY हेतु पात्रता

  • महिला होनी चाहिए।
  • आवेदक महिला की उम्र कम से कम 18 वर्ष हो।
  • आवेदक महिला बपीएल परिवार का होना चाहिए।
  • आवेदक महिला के परिवार से किसी अन्य के नाम उज्जवला योजना का सिलिंडर नहीं होना चाहिए।

पीएम उज्जवला योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज

  1. आधार कार्ड।
  2. पासपोर्ट साइज फोटो।
  3. बपीएल कार्ड।
  4. राशन कार्ड।
  5. बैंक पासबुक।
  6. आयु प्रमाण पत्र।
  7. बपीएल सूची (प्रिंट)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here