हाथरस 08 सितम्बर | पोषण माह के दूसरे दिन जिलाधिकारी हाथरस द्वारा दिए गए निर्देश के क्रम में आज जनपद की समस्त आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा अपने परी क्षेत्र के अति कुपोषित बच्चों के घरों पर सहजन और पपीते के पौधों के रोपण का कार्य शुरू कर दिया गया ज्ञातव्य है किस जिले में वर्तमान में 2332 बच्चे लाल श्रेणी के हैं । बच्चों के कुपोषण का एक बड़ा कारण प्रोटीन और कैलोरी की डिफिशिएंसी के साथ-साथ आयरन जैसे सुस्म पोषक तत्वों की कमी भी है । सहजन की पत्तियों में प्रचुर मात्रा में आयरन होता है जिन्हें दाल सब्जी में मिलाकर खिलाया जा सकता है और सहजन की फली प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है पपीते में विटामिन ए की प्रचुर मात्रा पाई जाती है इन पौधों के कुपोषित बच्चों के घरों पर लगाने से कुपोषण दूर करने में परिवार प्रोत्साहित होंगे । पोषण वाटिका लगाने में ग्राम प्रधानों का भी योगदान सराहनीय रहा ।यह कार्य पूरे माह तक जारी रहेगा ।