प्रपोज डे पर कवि विष्णु सक्सेना की एक रचना

अश्क आंखों से आज बहने दो, अपना हर दर्द मुझको सहने दो, उम्र भर तुमसे जो न कह पाया आज वो बात मुझको कहने...

कार के करिश्मे: काका हाथरसी

रोजाना हम बंबा पर ही घूमा करते उस दिन पहुँचे नहर किनारे वहाँ मिल गए बर्मन बाबू बाँह गले में डाल कर लिया दिल पर काबू कहने लगे- क्यों...

Hathras Wather

hathras
broken clouds
33.7 ° C
33.7 °
33.7 °
36%
2kmh
71%
Sat
35 °
Sun
37 °
Mon
40 °
Tue
42 °
Wed
39 °

Latest news