संजीव गौतम की ग़ज़लें

एक दरोगा है वो दुनिया का दरोगाई दिखाता है। जिसे चाहे बनाता है, जिसे चाहे मिटाता है। अमन के दुश्मनों को रात में वो देके बंदूके, सुबह से...

शिव कुमार ‘दीपक’ की बाल रचना

झूला लेकर आया सावन । हरियाली ले वर्षा आयी । बच्चों ने ली मन अंगड़ाई ।। दादुर पपिहा नाचे मोर । काली कोयल करे कनकोर ।। धानी चूँदर...

खड़ी फसल पर ओले आये-सुरजीत मान जलईया सिंह

मेरे गाँव मरा है भूखा  देखो राम दुलारा। रोज सबरे तोड़ रहा है सूखा का वो पत्थर। कमजोरी है इतनी उस पर सर खाता है चक्कर। गिरवी रख कर खेत...

कार के करिश्मे: काका हाथरसी

रोजाना हम बंबा पर ही घूमा करते उस दिन पहुँचे नहर किनारे वहाँ मिल गए बर्मन बाबू बाँह गले में डाल कर लिया दिल पर काबू कहने लगे- क्यों...

नितान्शी अग्रवाल की नई रचना – ‘बस तुझे सोचती हूँ’

तेरे चेहरे के नूर से, तेरे दिल की दूरी तक। तेरे पास होने से, तेरे रूठ जाने तक। बस तुझे सोचती हूँ।। वो बारिश की बूंद से, सूरज की किरण...

गीतकार डॉ विष्णु सक्सेना का 13 मार्च को होगा नागरिक अभिनंदन

हाथरस 12 मार्च | एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक हृयूमन राइट्स के तत्वावधान में होली मिलन एवं नागरिक अभिनंदन समारोह का आयोजन 13 मार्च शाम 6:30 बजे...

गँगाजमुनी मुशायरा का हुआ आयोजन 

हाथरस 16 फरवरी | आज आगरा रोड स्थित श्री राधा कृष्ण कृपा भवन के सभागार में प्रमुख साहित्य एवं समाज सेवी  अमृत सिंह पौनिया के...

शिव कुमार ‘दीपक’ द्वारा रचित ‘शरद के दोहे’

की अगुवानी महल ने, हुआ हास परिहास । लगे छलकने शिशिर में,मदिरा भरे गिलास ।।-1 देव दिवाकर धूप की, भेजें चादर आप । होरी करता रात भर,धूप-धूप...

शिव कुमार “दीपक” के गीत

गीत- छलक आँख से आँसू आये छलक आँख से आँसू आये । मन की लागी कौन बुझाये ।। सूरज का रथ जब आता है । तन मन में...

अकबर सिंह अकेला की कलम से – “कोरोना”

कोरोना १.लाइलाज़ यह रोग भयानक, बिगड़ गए सब कथे कथानक। गणित गड़बड़ा गया सभी का, घुसा देश मेंआइ अचानक ।। २. भारत सहित विश्व है हतप्रद, पार करी कोरोना हर...

Hathras Wather

hathras
broken clouds
28.2 ° C
28.2 °
28.2 °
22%
2.6kmh
72%
Thu
34 °
Fri
37 °
Sat
39 °
Sun
39 °
Mon
40 °

Latest news

Skip to toolbar