वृक्षों में जीवधारियों के प्राण बसते हैं । यदि वृक्षों से होनेवाले लाभों के बारे में सोचा जाए तो यह कथन पूरी तरह सही लगता है । वृक्ष जीवसमुदाय को फल, फूल, पत्ती लकड़ी और अनेक प्रकार के उपयोगी द्रव्य प्रदान करते हैं । वे सुखद घनी छाया से पथिकों को आह्‌लादित कर देते हैं । पक्षी, वानर, गिलहरी आदि जीव वृक्षों पर शरण लेते हैं । वृक्ष धरती की हरियाली एवं शोभा बढ़ाते हैं । ये प्राणवायु छोड्‌कर सारे संसार का भला करते हैं । ये वर्षाकारक हैं । भूमि का क्षरण और बाढ़ रोकने में वृक्षों सा मददगार कोई नहीं । वृक्षों से रबड़, गोंद, लाख, दातुन, जड़ी–बूटी आदि उपयोगी पदार्थ प्राप्त होते हैं । वृक्ष समुदाय जंगली जीवों की शरणस्थली होते हैं । जंगली जीव भी पेड़-पौधों की रक्षा में अपना योगदान देते हैं । वृक्षों का मूल्य नहीं आँका जा सकता। अतएव वृक्षों का संरक्षण एवं संवर्धन बहुत आवश्यक हो जाता है । धरती पर जितने अधिक वृक्ष होंगे, इसकी सुंदरता और गुणवत्ता में उतनी ही वृद्धि होगी ।